दहेज के लिए दानव की करतूत, हवन की वेदी के समक्ष लिए सात वचनों को तोड़ा, मामला पहुंचा थाने में

0

समाचार-गढ़ 18 सितम्बर 2020। श्रीडूंगरगढ़ थाने में एक आरएएस अधिकारी के खिलाफ देहज प्रताड़ना का मामला दर्ज हुआ है। पीड़िता की परिवाद पर पुलिस ने वर्तमान में फतेहपुर में सामाजिक न्याय अधिकारी के पद पर लगे हुए आरएएस पति सहित जेठ, जेठानी के खिलाफ मामला दर्ज कर किया है। श्रीडूंगरगढ़ थानाधिकारी वेदपाल शिवराण ने बताया कि श्रीडूंगरगढ़ की दीनदयाल कालोनी निवासी सोहनलाल नाई की पुत्री शालीनी ने थाने में उपस्थित होकर रतनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव कादिया ठठावता निवासी अपने पति रूपाराम, जेठ परमेश्वरलाल व जेठानी संतोषदेवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। पीडिता ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी 28 नवम्बर 2012 को हुई थी ओर उसके एक पुत्री भी है। शादी के दौरान उसके पिता ने हैसीयत के अनुसार दहेज दिया था। लेकिन आरोपी उसे कम दहेज देने का ताना देकर तंग परेशान करते रहे। शादी के बाद उसके पति ने आईएएस की कोचिंग के लिए पैसे लाने के लिए मजबूर किया एवं पीडिता के पिता ने उसे दिल्ली कोचिंग करवाने के लिए समय समय पर उसे 3.25 लाख रुपए नकद और दे दिए। पैसे देने के कुछ समय तक तो आरोपियों ने उसे आराम से रखा लेकिन पति का चयन आरएएस में होने के बाद से आरोपी उसे पांच लाख रुपए नकद, इनोवा कार एवं सोने के गहने और लेकर आने के लिए तंग परेशान करने लगे। आरोपियों ने और दहेज लाने की मांग के लिए गत 7 मई 2020 को उसका स्त्रीधन हडपते हुए मारपीट की एवं उसे उसके पिता के घर छोड़ गए। आरोपियों ने उससे उसकी बेटी भी छीन ली एवं दहेज नहीं देने पर आरएएस पति ने दूसरा विवाह करने की धमकी देकर उसकी बेटी को जबरन अपने साथ ले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here