मनुष्य जीवन ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना, समाज मे रहकर समाज के साथ निभाएं भागीदारी-महर्षि

0

श्रीडूंगरगढ़। कस्बे के श्रीडूंगरगढ़ महाविद्यालय में शनिवार को विश्वविधालय अनुदान आयोग द्वारा निर्देशित आनन्दम कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में सामाजिक, सांकृतिक व राष्ट्रीय सेवा से जुड़े मुद्दों पर विचार व्यक्त किये गए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व संस्था के सचिव श्याम महर्षि ने कहा कि संसार में कई प्रकार के प्राणी पाए जाते है। मनुष्य इन सबमें सर्वश्रेष्ठ है। उन्होंने मनुष्य को सामाजिक प्राणी बताते हुए उसकी पुरानी कथाओं व शोध में भूमिका को बताया। संस्था के उपसचिव रामचन्द्र राठी ने कहा की किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए व्यक्ति में उसके प्रति ललक होनी चाहिए।
पुराने काल मे भी अर्जुन ने सिर्फ मछली की आंख को एक लक्ष्य मान कर उसका भेदन किया था। इस लिए विद्यार्थी एक लक्ष्य लेकर मेहनत करें। प्राचार्य डॉ.रामकृष्ण शर्मा ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। हिन्दी विभाग के व्याख्याता डॉ.मनोज शर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस दौरान विभन्न कालांश के विद्यार्थियों ने भी ग्रुप में अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में विनोद सुथार, डॉ.श्यामसुंदर वर्मा, सुनील आचार्य, डॉ.सारिका रंगा,डां.शिव रतन नायक, प्रभु राम, महावीर धामा, सुशील सुथार, मुकेश सैनी मौजूद रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here