श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र के इंदपालसर हीरावतान, धर्मास, हत्थाणा, मोमासर गांवों के बन्द पड़े ट्यूबवेल सुचारू रूप से दुरस्त करे, जिला कलेक्टर करे जलदाय विभाग को पाबंद – डॉ विवेक माचरा 

0
समाचार-गढ़।  कोरोना  संकट के दौर में श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र के गांवों में जलदाय विभाग की उच्च स्तरीय लापरवाही और नगण्य संसाधनों और विभाग की ठेकेदारी प्रथा के कारण ग्रामीणों को भयंकर जल संकट का सामना करना पड़ रहा है । श्रीडूंगरगढ़ के युवा लीडर डॉ विवेक माचरा ने जिला कलेक्टर नमित मेहता से मांग की है कि संकट के इस दौर में गांवों की सुध लेने का काम प्रशासन को करना होगा । डॉ विवेक माचरा ने जिला कलेक्टर से मांग की है कि श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र के इंदपालसर हीरावतान, धर्मास, हत्थाणा, मोमासर  गांवों के बन्द पड़े ट्यूबवेल सुचारू रूप से दुरस्त करे ताकि ग्रामीण और पशुधन जलसंकट से उबर सके। डॉ विवेक माचरा ने कहा कि जलदाय विभाग की शून्य संसाधन क्षमता के कारण गांवों में निरंतर जल संकट का सामना करना पड़ता है । राज्य सरकार से भी मांग करते हुए कहा कि जिले के बी.डी. कल्ला जलदाय मंत्री होने के बावजूद श्रीडूंगरगढ़ का जलदाय विभाग लोरिंग मशीन, मोटर, केबल जैसी आवश्यक संसाधनों का अभाव जलदाय विभाग झेल रहा है, इससे बड़ी शर्मनाक बात नहीं हो सकती। डॉ विवेक माचरा ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना के संकट काल में किसी भी गांव में जलदाय विभाग की लापरवाही को सहन नहीं किया जाएगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here