शंकराचार्य का प्राकट्य दिवस मनाया, घरों में दीपक जलाए गए।

0

समाचारगढ़ । श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र में मंगलवार को शंकराचार्य का प्राकट्य दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लॉकडाउन के चलते सार्वजनिक आयोजन तो नहीं हुए पर श्रद्धालुओं ने अपने घरों में ही पूजा अर्चना कर संत का जन्मोत्सव मनाया। इसके साथ ही विप्रजनों द्वारा भगवान परशुराम के जन्म दिवस से शुरू चार दिवसीय आरोग्य सिद्धि के लिए संकल्पित मंत्र जाप अनुष्ठान की पूर्णाहुति भी दोपहर 12.15 बजे की गई। शाम को घरों में दीपक जलाए गए।
विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य तोलाराम तावणियां ने विप्रजनों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि इस समय कोरोना महामारी के संकट से उबरने के लिए लॉकडाउन काल में जरूरतममदों की सहायता व जनकल्याण के लिए आरोग्य सिद्धि के तहत दुर्गा सप्तशती के महामारी नाशक मंत्र जाप के लिए संतो व फाउंडेशन ने अभियान चलाने का निर्णय लिया था। इसमें फाउंडेशन द्वारा देश भर में गठित शाखाओं से जुड़े विप्र बन्धुओं ने भरपूर सहयोग किया है।श्रीडूंगरगढ़ व ग्रामीण क्षेत्र प्रभारी सुरेन्द्र चूरा व सुनील तावाणियां ने बताया कि इस तहसील क्षेत्र से 183 ब्राह्मण समाज के लोगों ने 5 लाख 57 हजार मंत्र जाप किए हैं और 433 जरूरतमन्द लोगों को एक माह की भोजन व्यवस्था का संकल्प पत्र के माध्यम से संकल्प लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here