छात्रों ने लगाये देशभक्ति के नारे, सुभाषचन्द्र बोस का भारतीय आजादी में था बहुत बड़ा योगदान-घिंटाला

0

समाचार-गढ़ 23 जनवरी 2021। रमन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान श्रीडूगंरगढ में आज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 125वीं जयन्ती मनाई गई। इस अवसर पर संस्थान निदेशक कुम्भाराम घिंटाला ने नेताजी की प्रतिमा पर पुष्पांजली अर्पित की तथा नेताजी के जीवन के बारे में बताया। उन्हांेने कहा कि नेताजी सुभाषचन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को आडिशा के कटक शहर में हुआ। इनके पिता का नाम जानकी नाथ बोस था। नेताजी का भारतीय आजादी में बहुत बड़ा योगदान रहा। उन्होंने भारत को आजादी दिलाने के लिए आजाद हिन्द फोज बनाई। आजादी की लड़ाई में ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा’ नारा बहुत प्रसिद्व हुआ। और जय हिन्द का नारा तो भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया। नेताजी भारतीय राष्ट्रीय काग्रंेस के अध्यक्ष भी रहे। आज के दिन को भारत सरकार ने पराक्रम दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। रमेश पुरोहित, सन्दीप गोदारा, किशन प्रजापत किशन पूरी, राकेश पडिहार एंव नन्दलाल ने भी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के बारे में अपने विचार रखें। छात्रों द्वारा देशभक्ति के नारे लगाये गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here