वसुन्धरा राजे के लापता होने सम्बन्धी पोस्टर वायरल करना वास्तविकता से कोसों दूर, तुच्छ राजनीति और सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास मात्र – सुथार

0
समाचारगढ़ 2 जून 2020। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और जनप्रिय नेता वसुन्धरा राजे सिंधिया के लापता होने संबंधी पोस्टर सोशल मीडिया में वायरल करने की घटना पर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामगोपाल सुथार ने कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए इसे विपक्ष की ओछी सोच और घटिया राजनीति का परिचायक बताया है। वरिष्ठ भाजपा नेता व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामगोपाल सुथार ने इसे राजे के खिलाफ षडयंत्र की संज्ञा देते हुए लोकप्रिय जनप्रतिनिधि की छवि को सोची समझी चाल के तहत धूमिल करने का दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास बताया है।
सुथार ने कहा कि जन जन की प्रिय नेता वसुंधराजी के खिलाफ इस प्रकार की घटिया हरकत से विपक्ष अपने मंसूबों में सफल नहीं हो सकता।
उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के शुरुआती चरण में अपनी लखनऊ यात्रा की वजह से पूर्व मुख्यमंत्री राजे और उनके साँसद पुत्र दुष्यंत सिंह ने कोरोना प्रोटोकॉल और गाइडलाइन का पालन करते हुए होम आइसोलेशन पूर्ण किया। उसके तुरन्त बाद से ही राजे लगातार राज्य के हर जिले के नागरिकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और फोन कॉल के माध्यम से निरन्तर सीधा संवाद और समन्वय कायम कर रही हैं। उन्हीं की प्रेरणा से भारतीय जनता पार्टी के हजारों कार्यकर्ता असंख्य निर्धन, असहाय और जरूरतमंदों की सहायता और सेवा कार्यों में लगे हुए हैं।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा विधायकों और सांसदों के साथ की गई वीडियो कॉन्फ्रेंस में भी राजे पूरे समय सम्मिलित रहीं एवं सरकार को अपनी ओर से आवश्यक मार्गदर्शन भी दिया।
सुथार ने कहा की वसुन्धरा राजे की कोरोना लॉकडाउन अवधि के दौरान इतनी सक्रियता और जनभागीदारी के बावजूद भी उनके लापता होने सम्बन्धी पोस्टर वायरल करना वास्तविकता से कोसों दूर, तुच्छ राजनीति और सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास मात्र है। वरिष्ठ भाजपा नेता रामगोपाल सुथार ने ऐसी घटिया पोस्ट वायरल करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here