Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
HomeFrontपॉजिटिवडिग्री करने के बाद भी नहीं मिल रही नौकरी, धरने पर बैठीं...

डिग्री करने के बाद भी नहीं मिल रही नौकरी, धरने पर बैठीं जेडीबी आर्ट्स कॉलेज की छात्राएं

Samachargarh AD
Samachargarh AD

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़:- जेडीबी कॉलेज कोटा की छात्राएं पिछले दो दिन से सर्द रातों में अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रही हैं. उनकी मांग है कि म्यूजिक की डिग्री (Music Degree) में जो विसंगतियां आ रही है उन्हें शीघ्र दूर किया जाए. जब तक ये विसंगतियां दूर नहीं होंगी छात्राएं यहां से हटने वाली नहीं हैं. छात्राओं ने सरकार और कॉलेज (College) प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और रात को अलाव जलाकर धरना दिया.

छात्राओं ने कहा मांगे पूरी नहीं होने तक जारी रहेगा आंदोलन
म्यूजिक की डिग्री की विसंगति दूर करने के लिए छात्राओं का आंदोलन शुक्रवार को भी जारी है.  जेडीबी आर्ट्स (JDB Arts) की छात्र संघ अध्यक्ष शिवानी दुबे के नेतृत्व में छात्राएं अपनी मांगों पर अड़ी हुई हैं. शिवानी दुबे ने बताया कि कोटा यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार और सहायक निदेशक कॉलेज शिक्षक डॉ. रघुराजसिंह परिहार मौके पर पहुंचे और छात्राओं से समझाइश की थी, लेकिन जब तक मांगे पूरी नहीं हो जाती आंदोलन जारी रहेगा. 

संगीत विषय में पीजी करने के बाद अमान्य किया घोषित
उन्होंने कहा कि जेडीबी आर्ट्स में संगीत विषय में पीजी की 60 सीटें है और यहां से करीब दो हजार छात्राएं पीजी कर चुकी है. लेकिन उन्हें सरकारी नौकरी में अमान्य घोषित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि संगीत विषय में गायन, वाद्य और नृत्य अलग-अलग विषय है, लेकिन कॉलेज से पीजी करने वाली छात्राओं को डिग्री में केवल म्यूजिक (संगीत) लिखा होता है. जिस कारण उन्हें समस्या आ रही है. डिग्री में गायन, वाद्य, नृत्य नहीं लिखा होता जिस कारण वो अमान्य (invalid) घोषित हो रही हैं और उनका भविष्य अंधकार में जा रहा है. ऐसे में वर्ष 2023 में संगीत में पीजी करने वाली छात्राओं के सामने संकट पैदा हो गया है.  

छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड बर्दाश्त नहीं 
छात्र संघ अध्यक्ष शिवानी दुबे ने कहा कि छात्राओं के भविष्य के साथ किया जा रहा खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं होगा. उन्होंने कहा कि जेडीबी कॉलेज में संगीत विषय में पीजी करने वाली छात्राओं को उच्च शिक्षा के बावजूद लाभ होने की जगह नुकसान हो रहा है. डिग्री में केवल इंडियन म्यूजिक (Indian music) लिखा है. डिग्री में विषय का वर्गीकरण नहीं

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन