श्रीडूंगरगढ़ के काॅन्स्टेबल पुनीत कुमार की चंहुओर हो रही चर्चा, क्यों हो रही चर्चा आप भी जानें।

0

समाचारगढ़ 19 जुलाई 2020, श्रीडूंगरगढ़। देश तथा विदेश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है और इस संक्रमण से लगातार मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। कोरोना से जान गवाने के बाद संक्रमण से बचने के लिए मृतक व्यक्ति के पास भी कोई नहीं जाना चाहता है। कोरोना वारियर्स के रूप में सरकारी नुमाइंदे ही मृतकों का अंतिम संस्कार करते है। ऐसा ही कोरोना वॉरियर रविवार को श्रीडूंगरगढ़ के सनातन श्मशान घाट पर देखने को मिला पुलिस विभाग के कांस्टेबल पुनीत कुमार के रूप में। हमारी संस्कृति में किसी अंतिम यात्रा में जाना व अंतिम संस्कार में सहयोग करना पुण्य का कार्य माना जाता है आज कोरोना काल में ये पुण्य पुलिस व चिकित्सा विभाग ही ले रहा है। आज पुलिस कांस्टेबल पुनीत कुमार ने अपनी डयुटी से कहीं आगे बढ़कर एक पंडित, मेडिकल स्टाफ, पुलिस व रिश्तेदार, नागरिक सभी कर्तव्यों को एक साथ निभाया। कोरोना शव का मेडिकल प्रोटोकॉल फॉलो करवाने के लिए आज पुलिस कॉन्स्टेबल पुनीत कुमार ने संवेदनशीलता का परिचय दिया और जहां कोरोना से मृत व्यक्ति के शव के पास भी कोई जाने की हिम्मत नहीं कर पाता वहीं कोरोना योद्धा पुनीत कुमार ने पीपीई किट पहनी व चांडक के परिजनों को सभी नियम समझाते हुए शव का अंतिम संस्कार करवाया। कांस्टेबल पुनीत कुमार द्वारा अपने कर्तव्यों का बखुबी पालन किया। आज पुनीत कुमार की पूरे क्षेत्र में इस नेक कार्य के लिए चंहुओर चर्चा हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here