क्षेत्र में ओलों से भारी नुकसान। कृषि मंडी की आवश्यक सूचना।

0

श्रीडूंगरगढ़ (समाचार-गढ़) 29 मार्च 2020। क्षेत्र के कई गांवो में गत तीन दिनों से हो रही बरसात व कहीं कहीं हुई जबरदस्त ओलावृष्टि से किसानों के सपने तबाह हुई फसलों के साथ ही बिखर गए है। किसानों की कटने के लिए तैयार चने और गेंहू की फसल को ओलों की सफेद चादर ने ढक लिया। कोरोना के कारण तैयार फसल भी कट नहीं पाई और कहीं अगर कट गयी तो एकत्र नहीं हो पाई। आँधी के साथ ओले गिरने से फसलें खेतों में ही पसर गयी। गांव सातलेरा में ईसबगोल की फसल तो शत प्रतिशत खराब हो गयी है। तहसील के गावं मोमासर, लिखमादेसर, सोनियासर मिठिया, सोनियासर गोदारण, बरजांगसर, कुतांसर, धीरदेसर चोटियान, धनेरू, कुनपालसर आदि गांवो में किसानों को ओलावृष्टि से भारी नुकसान हुआ है। गांवों में किसानों ने गिरदावरी की रिपोर्ट करवा कर मुआवजा दिलवाने की मांग की है।
महिया ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
समाचार-गढ़। विधायक गिरधारीलाल महिया ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर किसानों के लिए विशेष पैकेज की मांग की है। महिया ने कहा कि किसानों को बिजली बिलों में छूट व एक साल के लिए कुर्की पर रोक लगाने की बात कही। महिया ने कहा कि कोरोनो महामारी व लोक-डाउन के चलते फसल कढ़ाई के लिए मजदूर नहीं मिले और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है।
क्षेत्र के युवा नेता विवेक माचरा ने भी किसानों को बिजली बिल माफ करने व किसानो को बिल न भरने के एवज में विभाग द्वारा ट्रान्सफार्मर नहीं उतारने की मांग की है।
कृषि मंडी 15 अप्रैल तक लॉकडाउन
समाचार-गढ़। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण कृषि मंडी में भी 15 अप्रैल तक घोषित लॉकडाउन का पालन किया जाएगा। व इस दौरान कृषि उपज मंडी में 15 अप्रैल तक अवकाश रखने का निर्णय लिया गया है। कृषि व्यापार संघ अध्यक्ष श्यामसुन्दर पारीक ने कहा कि कृषि उपज मंडी में निलामी कार्य पुर्णतया बन्द रहेगा। अतः व्यापार संघ द्वारा जारी आगामी सुचना तक किसान अपनी कृषि उपज मंडी में विक्रय के लिए न लेकर आये। पारीक ने किसानों व व्यापारियों, मजदूरों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील भी की।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here