मुख्य बाजार की पुरानी सब्जी मण्डी बन्द, नई सब्जी मण्डी में भीड़, उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

0

समाचार-गढ़। श्रीडूंगरगढ़ कस्बे में कोरोना के प्रसार को कम करने के लिए प्रशासन लगातार समझाईश व सख्ती के साथ कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए कोशिश कर रहा है। बाजार में दुकानों के चालान काटने की कार्रवाई हो या दुकानों को सीज करने की कार्रवाई। प्रशासन हर हाल में कोरोना की इस बढ़ती चैन को तोड़ने की कोशिश कर रहा है और इसी कड़ी में मुख्य बाजार की सब्जी मण्डी को भी बन्द करने के लिए आदेश कल मंगलवार को दे दिए गए। जिसके बाद आज कस्बे की सबसे पुरानी मण्डी और रेहडियां आज खाली दिखाई दी। आम लोगों के वहां जानें पर उन्हें सब्जी नहीं मिलने से काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कस्बे के नागरिक कोरोना काल के इस जोखिम भरे हालात में अपनी जरूरत का सामान सब्जी नहीं मिलने से काफी नाराज दिखे। जबकि मुख्य बाजार में रेहड़ी के आस-पास काफी खाली जगह भी है और यहां सोशल डिस्टेसिंग रखी जा सकती है। दूसरी जगह सरकारी हाॅस्पीटल के पास पक्की सब्जी मण्डी की दुकानें खुली थी जब उनसे पूछा गया कि आपकी ये मण्डी की दुकानें खुली कैसे है तो उन्होंने बताया कि इस मण्डी में तीन रास्ते है ओर स्पेश भी काफी है। जिसकी वजह से उन्हें मण्डी बन्द रखने के लिए नहीं कहा गया है। लेकिन इस मण्डी में सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ती दिखाई दे रही थी। इसका सीधा कारण मुख्या बाजार की पुरानी मण्डी व रेहड़िया बन्द होना है। क्योंकि बाजार में सब्जी लेने आये ग्राहकों को कहीं ना कहीं से सब्जी तो ले जानी ही थी। ऐसे में वहां भीड़ अधिक हो गई और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती दिखाई दे रही थी। पूरे कस्बे के लोग जब एक जगह सब्जी लेने पहुचेंगे तो लाजमी है कि वहां ये नजारा तो देखने को मिलेगा ही, बस जरूरत है तो प्रशासन को एक बाजार फिर से इस पर विचार करने की। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए प्रशासन सब्जी मण्डी के समय बढ़ाने पर भी विचार कर सकता है। क्योंकि 11 बजे तक सब्जी मण्डी खुली होने के कारण लोग एक साथ सब्जी खरीदने पहुंचते है। इसके साथ ही 11 बजे से पहले-पहले सभी को अपने घरों में पहुंचना भी जरूरी है और समय पर घर पहुंचने के लिए अफरा-तफरी का माहौल भी बना रहता है क्योंकि 11 बजते ही फिर शुरू होता है प्रशासन का एक्शन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here