व्यापार मंडल श्रीडूंगरगढ़ द्वारा सार्वजनिक पुस्तकालय हाॅल में कोरोना वायरस जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन

0

समाचारगढ़ 27 जून 2020, श्रीडूंगरगढ़। कोरोना वायरस जागरूकता अभियान के तहत व्यापार मंडल श्रीडुंगरगढ़ द्वारा सार्वजनिक पुस्तकालय हाॅल में कोरोना वायरस जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में गल्ला किराना, खल पशुआहार, कपड़ा, हार्डवेयर, फुटवियर, जनरल मर्चेंट, मिठाई के अलावा बाजार के सभी तरह के व्यापारी सम्मिलित हुए। कोरोना वायरस जागरूकता संगोष्ठी को संबोधित करते हुए व्यापार मंडल के महामंत्री श्याम सुन्दर पारीक ने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना वायरस विश्व के अन्य देशों से होकर हमारे देश में पुरी तरह पाव पसार रहा है। इस वायरस का आज तक पुरे विश्व में निरन्तर प्रयास करने के बावजूद कोई वैक्सीन नहीं बनाया जा सका है। ऐसी स्थिति में आने वाले समय में इस वायरस के ओर ज्यादा फैलने की आशंका है। इस वजह से आम नागरिक को इसकी रोकथाम के लिए वायरस की सुरक्षा के लिए जारी दिशानिर्देशों का पालन करना होगा व आम लोगों को इसके खतरे को लेकर आगह व जागरूक करना पड़ेगा। व्यापारी वर्ग की समाज के जिम्मेदार तबके में गिनती होती है। ऐसी स्थिति में व्यापारीयों की जिम्मेदारी ओर ज्यादा बढ़ जातीं है। सभी व्यापारी कोरोना वायरस के संकमण की रोकथाम के लिए W.H.O. व सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पुरी तरह पालन करें। व आम ग्राहकों व समाज के आम नागरिकों में वायरस की रोकथाम के लिए बनाए गए नियम जेसे मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसीग व्यवस्था का पालन करना (सामाजिक दूरी) बार बार हैड वाॅश करना, सार्वजनिक जगहों पर नहीं थुकना, जा तक हो सके भीड़भाड़ व समारोह में सम्मिलित होने से बचना। आदि दिशानिर्देशों का पुरी तरह पालन करें व आम गाहिको व समाज के प्रयेत्य वर्ग में वायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पुरी तरह पालन करने के लिए जागरूकता फैला कर उपखंड प्रशासन व पुलिस प्रशासन का पुरी जिम्मेदारी के साथ सहयोग करे। कोई भी दुकानदार बिना मास्क के किसी भी गाहिको को सामान विक्रय नहीं करे। अपनी अपनी दुकानें पर सभी गाहिको से सोशल डिस्टेंसीग का पालन व साबुन से हाथ साफ करवाना सुनिश्चित करें। ताकि इस वैश्विक महामारी के अनियंत्रित प्रकोप को कम किया जा सके। संगोष्ठी में कन्हैयालाल सोमानी, हरिप्रसाद तापड़िया, गोपाल राठी, शिव प्रसाद मुधड़ा, बाबुलाल पांडीया, श्याम सुन्दर राठी, पवन राठी, सम्पत मल पुरोहित, गोपाल सिन्धी, महावीर सोमानी, लक्ष्मी नारायण तावणिया, बिहारी लाल राठी, जगदीश प्रसाद मालु आदि बड़ी संख्या में व्यापारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here