Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

बीकानेर। लंपी वायरस से गायों की मौत का सिलसिला अभी थमा नहीं है। शुक्रवार तक बीकानेर में सात सौ से ज्यादा गायों की मौत सरकारी रिकार्ड पर आ चुकी है, जबकि इससे दो गुना मौत का दावा पशुपालक कर रहे हैं। बीकानेर की सभी तहसीलों में गायों की मौत हो रही है।

उधर जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने शुक्रवार को वायरस से पीड़ित गायों के पास पहुंचकर जायजा लिया। गाढ़वाला स्थित सोहनलाल बूला देवी ओझा गौशाला का निरीक्षण किया। उन्होंने गौशाला में लंपी स्कीन डिजीज से रोग ग्रसित गायों के लिए अलग से बनाए गए बाड़े (आइसोलेशन सेंटर) का अवलोकन किया। जिला कलेक्टर ने दवाइयों की उपलब्धता एवं रोग ग्रस्त पशुओं की स्थिति की जानकारी ली। जिला कलेक्टर ने कहा कि लंपी स्कीन डिजीज के मद्देनजर गौशालाओं में पूर्ण सावधानी रखी जाए। उन्होंने बताया कि राजीविका की पशु सखियों, कृषि पर्यवेक्षकों और सहायक कृषि अधिकारियों के माध्यम से लंपी स्कीन के लक्षण, बचाव के उपाय तथा दुष्प्रभावों के बारे में गांव-गांव में जानकारी दी जा रही है। प्रत्येक उपखंड अधिकारी को क्षेत्र में प्रभारी नियुक्त किया गया है। पशुपालन विभाग के अधिकारियों को सभी गौशालाओं का निरीक्षण तथा नॉर्म्स के अनुसार सावधानी बरतने के लिए निर्देशित किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला, उपखण्ड और तहसील स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। पशुपालक किसी भी प्रकार की जानकारी तथा मार्गदर्शन के लिए नियंत्रण कक्ष में संपर्क कर सकता है। इस दौरान कृषि विभाग के उपनिदेशक कैलाश चौधरी उपस्थित रहे।

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन