Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Home Blog

दिनांक 4 दिसम्बर 2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ

दिनांक 04 -12 -2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ
श्री गणेशाय नम:

तिथि वारं च नक्षत्रं
योगो करणमेव च ।
पंचागं श्रृणुते नित्यं
श्रीगंगा स्नानं फलं लभेत् ।।
शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचांग के तिथि, वार, नक्षत्र ,योग ,करण आदि पांच अंगों को सुनने से गंगा स्नान के बराबर फल मिलता है अतः नित्य पंचांग अवश्य सुनना चाहिए।। *आज का पंचांग*

दिनांक- 04/12 /2022
श्री डूंगरगढ़
अक्षांश – 28:06
रेखांश – 74:04
पंचांग
विक्रम संवत् – 2079
शक संवत् – 1944
* ऋतु – हेमंत
* अयन- दक्षिणायण
* मास – मार्गशीर्ष
* पक्ष- शुक्ल
* तिथि- द्वादशी रात्रि 29:53 बजे उपरांत त्रयोदशी
* वार- रविवार
* नक्षत्र – अश्विनी 31:10 बजे उपरांत भरणी
* योग- वरियान रात्रि 27:35 बजे उपरांत परिध
*करण- * 1 बव– सायं 17:41:48 2 बालव– 29:53:18 उपरांत 3 कौलव
* चंद्र राशि – मेष
चंद्र बल – मेष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला, वृश्चिक, धनु, कुंभ, मीन

सम्वत् नाम – शुभकृत
सूर्योदय – 07:11 A M. सूर्यास्त – 05:37 P.M.
दिनमान – 10:26
रात्रिमान – 13:34 *शुभ समय* अभिजित मुहूर्त मध्याह्न - 12:00बजे से 12:48 तक

अशुभ समय
यमगण्ड – दोपहर 12:00 से 1:30 तक राहुकाल- सायं 4:30 से 6:00 बजे तक

*(विशेष- राहुकाल चक्र भारत के दक्षिण संभाग में ही मान्य है दक्षिण संभाग के लोगों को शुभ कार्यो में राहु काल के समय का त्याग करना चाहिए किंतु उत्तर भारत में राहुकाल का समय शुभ कार्यों में त्यागने की आवश्यकता नहीं है । ) **

कालवेला या अर्द्धयाम
1. दोपहर 12:24 से 01:42:15 बजे तक
2. रात्रि 02:05:45 से 03:47:30 बजे तक

गुलिक काल – सायं 03:00 से 04:30 बजे तक
दिशा शूल – पश्चिम दिशा

चौघड़िया ( दिन)
1.उद्वेग- प्रातः 07:11 से 08:29:15 तक
2.चंचल-प्रातः 08:29:15 से 09:47:30 तक
3.लाभ-प्रातः 09:47:30 से 11:05:45 तक
4.अमृत-प्रातः 11:05:45 से 12:24 तक (वारवेला निषेध)
5.काल-दोपहर 12:24 से 01:42:15 तक( कालवेला निषेध)
6.शुभ- दोपहर 01:42:15 से 03:00:30 तक
7.रोग-सायं 03:00:30 से 04:18:45 तक
8.उद्वेग-सायं 04:18:45 से 05:37 तक

चौघड़िया ( रात्रि)
1.शुभ-रात्रि 05:37 से 07:18:45 तक
2.अमृत -रात्रि 07:18:45 से 09:00:30 तक
3.चंचल-रात्रि 09:00:30 से 10:42:15 तक
4.रोग-रात्रि 10:42:15 से 12:24:00 तक
5.काल-रात्रि 12:24:00 से 02:05:45 तक
6.लाभ-रात्रि 02:05:45 से 03:47:30 तक (कालवेला निषेध)
7.उद्वेग-रात्रि 03:47:30 से 05:29:15 तक
8.शुभ-रात्रि 05:29:15 से 07:11 तक

राजगुरु पंडित रामदेव उपाध्याय ( शास्त्री-आचार्य ,ज्योतिष विद्, बी.ए.)
भू.पू. सहायक आचार्य
श्री ऋषिकुल संस्कृत विद्यालय
श्री डूंगरगढ़
M.N. 9829660721

सातलेरा में मेगा पी टी एम का हुआ शानदार आयोजन

राज्य सरकार शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार आज राउमावि सातलेरा में मेगा पी टी एम का शानदार आयोजन किया गया जिसमें कक्षा 03 से कक्षा 08 तक अध्ययनरत बालक बालिकाओं के अभिभावकों ने बढ़ चढ़ कर सहभागिता की।उपस्थित अभिभावकों को “राजस्थान में शिक्षा में बढ़ते कदम”RKSMBK प्रथम आकलन मूल्यांकन कक्षा 03 से कक्षा 08 तक के बच्चों के रिपोर्ट कार्ड देकर बच्चों की प्रगति से अवगत करवाया गया।अभिभावकों ने तन्मयता से सम्बंधित कक्षाध्यापकों और विषयाध्यापकों से अपने बच्चों की शिक्षा के स्तर व उपलब्धि पर चर्चा की।कार्यवाहक संस्थाप्रधान श्री मुकेश कुमार शर्मा ने पधारे सभी अभिभावकों का आभार व्यक्त किया और बताया कि विद्यालय के सभी शिक्षकों के नेतृत्व में सफल मेगा पी टी एम सम्पन्न हुई।

दिनांक 3 दिसम्बर 2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ

दिनांक 03 -12-2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ
श्री गणेशाय नम:

तिथि वारं च नक्षत्रं
योगो करणमेव च ।
पंचागं श्रृणुते नित्यं
श्रीगंगा स्नानं फलं लभेत् ।।
शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचांग के तिथि, वार, नक्षत्र ,योग ,करण आदि पांच अंगों को सुनने से गंगा स्नान के बराबर फल मिलता है अतः नित्य पंचांग अवश्य सुनना चाहिए।। *आज का पंचांग*

दिनांक- 03 /12/2022
श्री डूंगरगढ़
अक्षांश – 28:06
रेखांश – 74:04
पंचांग
विक्रम संवत् – 2079
शक संवत् – 1944
* ऋतु – हेमंत
* अयन- दक्षिणायण
* मास – मार्गशीर्ष
* पक्ष- शुक्ल
* तिथि- एकादशी रात्रि 29:30 उपरांत द्वादशी
* वार- शनिवार
* नक्षत्र – रेवती रात्रि 30:11 बजे उपरांत अश्विनी
* योग- व्यतिपात रात्रि 28:29:12 उपरांत वरियान
* करण- 1 वणिज – 17:33:12 2 विष्टि (भद्रा)- 29:30:42 3 बव
* चंद्र राशि – मीन रात्रि 30:11 उपरांत मेष
चंद्र बल – वृषभ, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर, कुंभ, मीन रात्रि 30:11बजे उपरांत मेष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला, वृश्चिक, धनु, कुंभ, मीन

सम्वत् नाम – शुभकृत
सूर्योदय – 07:10 A.M. सूर्यास्त – 05:37 P.M.
दिनमान – 10:27
रात्रिमान – 13:33 *शुभ समय* अभिजित मुहूर्त मध्याह्न -11:59:30 बजे से 12:47:30 तक

अशुभ समय
यमगण्ड – दोपहर 1:30 से 3:00 बजे तक राहुकाल- प्रातः 9:00 से 10:30 बजे तक

*(विशेष- राहुकाल चक्र भारत के दक्षिण संभाग में ही मान्य है दक्षिण संभाग के लोगों को शुभ कार्यो में राहु काल के समय का त्याग करना चाहिए किंतु उत्तर भारत में राहुकाल का समय शुभ कार्यों में त्यागने की आवश्यकता नहीं है । ) **

कालवेला या अर्द्धयाम
1. प्रातः 07:10 से 08:28:22 बजे तक 2. सायं 04:18:37 से 05:37:00 बजे तक
3.रात्रि 05:37:00 से 07:18:37 तक
4.रात्रि 05:28:22 से 07:10 तक
गुलिक काल – प्रातः 6:00 से 7:30 बजे तक
दिशा शूल – पूर्व दिशा

चौघड़िया ( दिन)
1.काल- प्रातः 07:10 से 08:28:22 तक(कालवेला निषेध)
2.शुभ-प्रातः 08:28:22 से 09:46:45 तक
3.रोग-प्रातः 09:46:45 से 11:05:07 तक
4.उद्वेग-प्रातः 11:05:07 से 12:23:30 तक
5.चंचल-दोपहर 12:23:30 से 01:41;52 तक
6.लाभ-दोपहर 01:41;52 से 03:00:15 तक ( वार वेला निषेध)
7.अमृत-सायं 03:00:15 से 04:18:37 तक
8.काल- सायं 04:18:37 से 05:37 तक (कालवेला निषेध)

चौघड़िया ( रात्रि)
1.लाभ- रात्रि 05:37 से 07:18:37 तक (कालवेला निषेध)
2.उद्वेग-रात्रि 07:18:37 से 09:00:15 तक
3.शुभ-रात्रि 09:00:15 से 10:41:52 तक
4.अमृत-रात्रि 10:41:52 से 12:23:30 तक
5.चंचल-रात्रि 12:23:30 से 02:05:07 तक
6.रोग-रात्रि 02:05:07 से 03:46:45 तक
7.काल-रात्रि 03:46:45 से 05:28:22 तक
8.लाभ-रात्रि 05:28:22 से 07:10 तक (कालवेला निषेध)

विशेष- मोक्षदा एकादशी व्रत (स्मार्त)

राजगुरु पंडित रामदेव उपाध्याय ( शास्त्री-आचार्य ,ज्योतिष विद्, बी.ए.)
भू.पू. सहायक आचार्य
श्री ऋषिकुल संस्कृत विद्यालय
श्री डूंगरगढ़
M.N. 9829660721

श्रीडूंगरगढ़ breking, ग्रिट से भरा ट्रोला खाया पलटी

0

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़।

ग्रिट से भरा ट्रोला खाया पलटी

ट्रोला में तीन जने थे सवार

नहीं हुई कोई जनहानि

सातलेरा से 1 किलोमीटर बिग्गा की तरफ हुआ हादसा

सीकराली से सहजरासर (लूणकरणसर) जा रहा था ट्रोला

सड़क पर बिखरी ग्रिट

हो सकता है कोई हादसा

बाइक सवार को बचाने के चक्कर मे खाया पलटा

फ़ोटो गौरीशंकर तावनिया
फ़ोटो गौरीशंकर तावनिया

दिनांक 2 दिसम्बर 2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ

दिनांक 02-12-2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ
श्री गणेशाय नम:

तिथि वारं च नक्षत्रं
योगो करणमेव च ।
पंचागं श्रृणुते नित्यं
श्रीगंगा स्नानं फलं लभेत् ।।
शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचांग के तिथि, वार, नक्षत्र ,योग ,करण आदि पांच अंगों को सुनने से गंगा स्नान के बराबर फल मिलता है अतः नित्य पंचांग अवश्य सुनना चाहिए।। *आज का पंचांग*

दिनांक- 02/12/2022
श्री डूंगरगढ़
अक्षांश – 28:06
रेखांश – 74:04
पंचांग
विक्रम संवत् – 2079
शक संवत् – 1944
* ऋतु – हेमंत
* अयन- दक्षिणायण
* मास – मार्गशीर्ष
* पक्ष- शुक्ल
* तिथि- दशमी रात्रि 29:35 उपरांत एकादशी
* वार- शुक्रवार
* नक्षत्र – उत्तराभाद्रपद रात्रि 29:40 बजे उपरांत रेवती
* योग- वज्र प्रातः 07:24:12 बजे उपरांत सिद्धि प्रातः 30:00:12 बजे उपरांत व्यतिपात
* करण- 1.तैतिल– सायं 17:53 उपरांत 2गर* प्रातः 29:35:30 बजे उपरांत 3 वणिज
* चंद्र राशि – मीन
चंद्र बल – वृषभ, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर, कुंभ, मीन

सम्वत् नाम – शुभकृत
सूर्योदय – 07:09 A.M. सूर्यास्त- 05:37 P.M.
दिनमान – 10:28
रात्रिमान – 13:32 *शुभ समय* अभिजित मुहूर्त मध्याह्न - 11:59 से 12:47 बजे तक

अशुभ समय
यमगण्ड – सायं 3:00 से 4:30 बजे तक राहुकाल- प्रातः 10:30 से 12:00 बजे तक

*(विशेष- राहुकाल चक्र भारत के दक्षिण संभाग में ही मान्य है दक्षिण संभाग के लोगों को शुभ कार्यो में राहु काल के समय का त्याग करना चाहिए किंतु उत्तर भारत में राहुकाल का समय शुभ कार्यों में त्यागने की आवश्यकता नहीं है । ) **

कालवेला या अर्द्धयाम
1.प्रातः11 :04:30 से 12:23:00 बजे तक 2.रात्रि 09:00 से 10:41:30 बजे तक

गुलिक काल – प्रातः 7:30 से 9:00 बजे तक
दिशा शूल – पश्चिम दिशा

चौघड़िया ( दिन)
1.चंचल- प्रातः 07:09 से 08:27:30 तक
2.लाभ-प्रातः 08:27:30 से 09:46:00 तक 3.अमृत-प्रातः 09:46:00 से 11:04:30 तक (वार वेला निषेध)
4.काल-प्रातः 11:04:30 से 12:23:00 तक (कालवेला निषेध)
5.शुभ- दोपहर 12:23:00 से 01:41:30 तक
6.रोग-दोपहर 01:41:30 से 03:00 तक
7.उद्वेग-सायं 03:00 से 04:18:30 तक
8.चंचल-सायं 04:18:30 से 05:37 तक

चौघड़िया ( रात्रि)
1.रोग- रात्रि 05:37:00 से 07:18:30 तक
2.काल-रात्रि 07:18:30 से 09:00 तक
3.लाभ-रात्रि 09:00 से 10:41:30 तक (कालवेला निषेध)
4.उद्वेग-रात्रि 10:41:30 से 12:23:00 तक
5.शुभ-रात्रि 12:23:00 से 02:04:30 तक
6.अमृत-रात्रि 02:04:30 से 03:46:00 तक
7.चंचल-रात्रि 03:46:00 से 05:27:30 तक
8.रोग-रात्रि 05:27:30 से 07:09 तक

राजगुरु पंडित रामदेव उपाध्याय ( शास्त्री-आचार्य ,ज्योतिष विद्, बी.ए.)
भू.पू. सहायक आचार्य
श्री ऋषिकुल संस्कृत विद्यालय
श्री डूंगरगढ़
M.N. 9829660721

आगामी जन आक्रोश यात्रा को लेकर श्री डूंगरगढ़ शहर की मीटिंग। उदासीनता कर रही है आंदोलन को मजबूर, रेलवे जीएम को दिया ज्ञापन। विधायक के प्रतिनिधिमंडल ने जीएम को रेलवे मांगों से करवाया अवगत, सौंपे मांगपत्र

आगामी जन आक्रोश यात्रा को लेकर श्री डूंगरगढ़ शहर की मीटिंग में चेयरमैन,पार्षदों मंडल कार्यकारिणी सदस्यों के साथ बैठकर बनाया रूट चार्ट, रूपरेखा – जिलाध्यक्ष सारस्वत

श्रीडूंगरगढ़ । भाजपा जिलाध्यक्ष ताराचन्द सारस्वत ने श्री डूंगरगढ़ शहर कार्यकारिणी और पार्षदों की मीटिंग में जन आक्रोश यात्रा की रूपरेखा तैयार की जिसमें सारस्वत ने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को एक साथ लेकर जन आक्रोश यात्रा शहर के प्रत्येक वार्ड से निकाली जायेगी जिसमें सभी को अलग अलग जिम्मेदारी बांटते हुए कार्यक्रम करना है । इस दौरान चेयरमैन मानमल शर्मा,पूर्व मंडल अध्यक्ष संजय शर्मा,महामंत्री महेश राजोतिया, रोशन अली छींपा,पार्षदगण जगदीश गुर्जर,विनोद गुंसाई,श्याम सुंदर पुरोहित,गोपाल छापोला,विक्रम सिंह,लोकेश गौड़,पवन उपाध्याय,रजत आसोपा, भरत सुथार,वेदप्रकाश शर्मा,पूर्व पार्षद फूशाराम पारीक,सुरेंद्र चुरा,युवा मोर्चा से भवानी प्रकाश,महेंद्र राजपूत, किशन पूरी, ओम सिंह राजपुरोहित,महेंद्र सिंह तंवर, एस सी मोर्चा से अनिल वाल्मीकि,विष्णु वाल्मीकि, ओम प्रकाश आदि ने मीटिंग में अपनी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए शहर के प्रत्येक वार्ड में सभी कार्यकर्ताओं को सूचना देकर जन आक्रोश कार्यक्रम में भाग लेने लिए रूपरेखा में अपनी राय रखी और कार्यक्रम को मजबूती से करने की शपथ ली ।

उदासीनता कर रही है आंदोलन को मजबूर, रेलवे जीएम को दिया ज्ञापन।

श्रीडूंगरगढ़। गुरुवार को श्रीडूंगरगढ़ रेलवे स्टेशन के निरीक्षण के लिए आये उत्तर पश्चिम रेलवे के जीएम विजय शर्मा को यूथ कांग्रेस द्वारा देहात जिलाध्यक्ष हरिराम बाना की अगुवाई में ज्ञापन दिया गया। ओर लंबे समय से श्रीडूंगरगढ़-बीदासर रोड़ पर रेलवे ओवरब्रिज की मांग पर चल रहे आंदोलन की जानकारी दी। बाना ने बताया कि ज्ञापन में पूर्व में किये गए पात्रचार कि जानकारी देते हुए क्षेत्र के सैंकड़ो गांवो ओर लाखों लोगों को हर रोज होने वाली दिक्कतों के बारे में बताया गया। इस मौके पर अभी तक इस सबंध में रेलवे अधिकारियों द्वारा बरती गई उदासीनता पर रोष जताया गया और श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र के लाखो जिंदगी से खिलवाड़ नही करने की चेतावनी देते हुए रेलवे ओवरब्रिज के सबन्ध में रेलवे द्वारा किये जाने वाले कार्य शीघ्रताशीघ्र करवाने की मांग की गई। इसके अभाव में आंदोलन को तेज करने की चेतावनी भी दी गई।

विधायक के प्रतिनिधिमंडल ने जीएम को रेलवे मांगों से करवाया अवगत, सौंपे मांगपत्र

श्रीडूंगरगढ़ रेलवे स्टेशन पर उत्तर-पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक विजय शर्मा के वार्षिक निरीक्षण के दौरान क्षेत्रीय विधायक गिरधारीलाल महिया के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात कर क्षेत्र की रेलवे संबंधी मांगों से अवगत करवाकर मांगपत्र सुपुर्द किए। क्षेत्रीय विधायक के प्रतिनिधि के तौर पर शहीद कैप्टन चन्द्र चौधरी के पिता कन्हैयालाल सिहाग के नेतृत्व में जीएम को ज्ञापन सौंपकर श्रीडूंगरगढ़ रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज का निर्माण करने व विभिन्न ग्रामीण मार्गों पर रेलवे अण्डरब्रिजों का निर्माण करवाने की बात प्रमुखता से कही गई। इसके अलावा बीकानेर-हरिद्वार एक्सप्रेस गाड़ी का देहरादून तक विस्तार करने एवं यात्रियों की सुविधा अनुसार समय परिवर्तन कर सूडसर रेलवे स्टेशन पर ठहराव करने, बीकानेर-जयपुर के मध्य नियमित पैसेंजर गाड़ी का संचालन करने, बीकानेर-प्रयागराज वाया जयपुर ट्रेन का सूडसर रेलवे स्टेशन पर ठहराव करने, बीकानेर-रतनगढ़ पैसेंजर गाड़ी का यात्रियों की सुविधानुसार समय में परिवर्तन करने, बिग्गा बास रामसरा के हाल्ट स्टेशन के प्लेटफार्म को ऊंचा करने, श्रीडूंगरगढ़ रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधाओं का विस्तार कर एक नं. प्लेटफार्म को ऊंचा उठाने, सूडसर स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज का निर्माण करवाने सहित अन्य मांगों से संबंधित पत्र सौंपे गए।
प्रतिनिधिमंडल ने राज्य सरकार के बजट पूर्व समन्वय स्थापित कर रेलवे ओवरब्रिज व अण्डरब्रिजों के निर्माण हेतु सकारात्मक रूख अपनाने की बात कही ताकि आगामी बजट में रेलवे ओवरब्रिज व अण्डरब्रिज की घोषणा राज्य सरकार करें। इस दौरान विधायक निजी सहायक संदीप चौधरी, किसान सभा के नारायण गिला उपस्थित रहे।

प्रति दिन जयपुर ट्रेन शुरू की जाए,
रेल प्रबंधक का श्रीडूंगरगढ़ विकास मंच द्वारा स्वागत एवं ज्ञापन

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़। गुरुवार दोपहर दो बजे सौ से अधिक रेल्वे अधिकारियों तथा कर्मचारियों के अमले के साथ उत्तर पश्चिम रेल्वे के जनरल मैनेजर श्री विजय कुमार शर्मा स्पेशल निरीक्षण यान से श्रीडूंगरगढ़ रेल्वे स्टेशन पहुंचे। यहां प्रतीक्षारत शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने जी एम महोदय का माला एवं साफा पहनाकर स्वागत किया। इस अवसर पर अनेक सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों ने श्रीडूंगरगढ़ रेल्वे सेवा से सम्बन्धित आवश्यकताओं और समस्याओं के निवारण हेतु ज्ञापन सौंपे।
श्रीडूंगरगढ़ विकास मंच के अध्यक्ष श्याम महर्षि, उपाध्यक्ष डाॅ चेतन स्वामी, उपाध्यक्ष लाॅयन महावीर माली, उपाध्यक्ष विनोद गुसाईं, मंत्री राजकुमार स्वामी तथा मंच से जुड़े अनेक सदस्यों ने निम्न मांगों के साथ ज्ञापन की प्रति जी एम तथा बीकानेर डी आर एम को सौंपी। ज्ञापन में कहा गया कि
• जयपुर और दिल्ली प्रतिदिन अवागमन के लिए इन्टरसिटी ट्रेन चालू की जावे।
• वेटिंग रूम का निर्माण किया जाए।
• एक नम्बर प्लेटफार्म के टिन शेड का विस्तार किया जाए,वहीं प्लेटफॉर्म संख्या 2 पर भी टिन शेड का निर्माण करवाया जाए।
•एक नम्बर प्लेट फॉर्म काफी नीचा है, उसका रेल पायदान तक निर्माण कराया जाए।
• बीदासर की ओर जाने वाले रेल फाटक पर ओवर ब्रिज का निर्माण कराया जाए।
• प्लेटफॉर्म पर कोच इन्डिकेटर लगवाए जाएं।
• गाड़ियों के रुकने का समय 2 मिनिट से बढ़ाकर 4 मिनिट होना चाहिए।
डाॅ चेतन स्वामी ने अपने उद्बोधन में जी एम महोदय से विशेष निवेदन किया कि पूर्व में इस रूट से जयपुर ट्रेन चला करती थी, उसे अब पुनः शुरू किया जाए। जी एम ने सारी बातें सहानुभूति पूर्वक सुनी। ज्ञापन प्रदान करने में श्री विमल भाटी, विक्रम कोटड़िया, शुभकरण पारीक पत्रकार, मालचंद सिंघी, तुलसीराम चौरड़िया भी साथ रहे।

श्रीडूंगरगढ़ में भारतीय किसान संघ की किसान गर्जना रैली के पोस्टर का विमोचन

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ। कस्बे में बुधवार को भारतीय किसान संघ की किसान गर्जना रैली के पोस्टर का विमोचन किया गया। संघ के जिलाध्यक्ष कैलाश जाजड़ा ने बताया कि 19 दिसंबर को भारतीय किसान संघ द्वारा दिल्ली के रामलीला मैदान में किसानों की मांगों को लेकर रैली का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने किसानों से अधिकाधिक संख्या में रैली में शामिल होने का आहान किया। संघ के विद्युत विभाग प्रमुख तोलाराम जाखड़ ने बताया कि किसान दिल्ली में केंद्र सरकार के समक्ष मांगों को पुरजोर तरीके से उठाएंगे। इस दौरान तहसील कार्यकारिणी के बेगराज लुखा, अनिल वाल्मीकि, विष्णु वाल्मीकि, छोटूलाल कस्वां,प्रभु राम मेघवाल, चेतन भारतीय, बाबूलाल रेगर आदि मौजूद रहे।

दिनांक 1 दिसम्बर 2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ

दिनांक 01- 12 -2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ
श्री गणेशाय नम:

तिथि वारं च नक्षत्रं
योगो करणमेव च ।
पंचागं श्रृणुते नित्यं
श्रीगंगा स्नानं फलं लभेत् ।।
शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचांग के तिथि, वार, नक्षत्र ,योग ,करण आदि पांच अंगों को सुनने से गंगा स्नान के बराबर फल मिलता है अतः नित्य पंचांग अवश्य सुनना चाहिए।। *आज का पंचांग*

दिनांक- 01/12/2022
श्री डूंगरगढ़
अक्षांश – 28:06
रेखांश – 74:04
पंचांग
विक्रम संवत् – 2079
शक संवत् – 1944
* ऋतु – हेमंत
* अयन- दक्षिणायण
* मास – मार्गशीर्ष
* पक्ष- शुक्ल
* तिथि- अष्टमी प्रातः 07:17 उपरांत नवमी
* वार- गुरुवार
* नक्षत्र – पूर्वाभाद्रपद रात्रि 29:39 उपरांत उत्तराभाद्रपदा
* योग- हर्षण प्रातः 09:28 उपरांत वज्र
* करण- 1 बव- प्रातः 07:17:12 उपरांत 2 बालव- सायं 18:43:42 3 कौलव- रात्रि 26:00:54 उपरांत 4 तैतिल-
* चंद्र राशि – कुंभ रात्रि 23:43 बजे उपरांत मीन
चंद्र बल – मेष, वृषभ, मिथुन, सिंह, कन्या, तुला, धनु, मकर, कुंभ
रात्रि 23:43 बजे उपरांत वृषभ, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर, कुंभ, मीन

सम्वत् नाम – शुभकृत
सूर्योदय – 07:08 A.M. सूर्यास्त – 05:37 P.M.
दिनमान – 10:29
रात्रिमान – 13:31 *शुभ समय* अभिजित मुहूर्त मध्याह्न - 11:58:30 बजे से 12:46:30 तक

अशुभ समय
यमगण्ड – प्रातः 6:00 से 7:30 बजे तक राहुकाल- दोपहर 1:30 से 3:00 बजे तक

*(विशेष- राहुकाल चक्र भारत के दक्षिण संभाग में ही मान्य है दक्षिण संभाग के लोगों को शुभ कार्यो में राहु काल के समय का त्याग करना चाहिए किंतु उत्तर भारत में राहुकाल का समय शुभ कार्यों में त्यागने की आवश्यकता नहीं है । ) **

कालवेला या अर्द्धयाम
1. सायं 02:59:45 से 04:18:22 बजे तक
2. रात्रि- 12:22:30 से 02:03:52 बजे तक

गुलिक काल – प्रातः 9:00 से 10:30 बजे तक
दिशा शूल – दक्षिण दिशा में यात्रा वर्जित है

चौघड़िया ( दिन)
1.शुभ- प्रातः07:08:00 से 08:26:37 तक
2.रोग-प्रातः 08:26:37 से 09:45:15 तक
3.उद्वेग-प्रातः 09:45:15 से 11:03:52 तक
4.चंचल-प्रातः 11:03:52 से 12:22:30 तक
5.लाभ-दोपहर 12:22:30 से 01:41:07 तक
6.अमृत-दोपहर 01:41:07 से 02:59:45 तक
7.काल-सायं 02:59:45 से 04:18:22 तक (कालवेला निषेध)
8.शुभ-सायं 04:18:22 से 05:37 तक (वार वेला निषेध)

चौघड़िया ( रात्रि)
1.अमृत-रात्रि 05:37:00 से 07:18:22 तक
2.चंचल-रात्रि 07:18:22 से 08:59:45 तक
3.रोग-रात्रि 08:59:45 से 10:41:07 तक
4.काल-रात्रि 10:41:07 से 12:22:30 तक
5.लाभ-रात्रि 12:22:30 से 02:03:52 तक(कालवेला निषेध)
6.उद्वेग-रात्रि 02:03:52 से 03:45:15 तक
7.शुभ-रात्रि 03:45:15 से 05:26:37 तक
8.अमृत-रात्रि 05:26:37 से 07:08 तक

राजगुरु पंडित रामदेव उपाध्याय ( शास्त्री-आचार्य ,ज्योतिष विद्, बी.ए.)
भू.पू. सहायक आचार्य
श्री ऋषिकुल संस्कृत विद्यालय
श्री डूंगरगढ़
M.N. 9829660721

दिनांक 30 नवम्बर 2022 के पंचांग के साथ जानें और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ

दिनांक 30- 11-2022 के पंचांग के साथ जाने और भी कई खास बातें आचार्य राजगुरू पंडित रामदेव उपाध्याय के साथ
श्री गणेशाय नम:

तिथि वारं च नक्षत्रं
योगो करणमेव च ।
पंचागं श्रृणुते नित्यं
श्रीगंगा स्नानं फलं लभेत् ।।
शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचांग के तिथि, वार, नक्षत्र ,योग ,करण आदि पांच अंगों को सुनने से गंगा स्नान के बराबर फल मिलता है अतः नित्य पंचांग अवश्य सुनना चाहिए।। *आज का पंचांग*

दिनांक- 30/ 11 /2022
श्री डूंगरगढ़
अक्षांश – 28:06
रेखांश – 74:04
पंचांग
विक्रम संवत् – 2079
शक संवत् – 1944
* ऋतु – हेमंत
* अयन- दक्षिणायण
* मास – मार्गशीर्ष
* पक्ष- शुक्ल
* तिथि- सप्तमी प्रातः- 08:54 बजे उपरांत अष्टमी
* वार- बुधवार
* नक्षत्र – शतभिषा रात्रि 30:07 बजे उपरांत पूर्वाभाद्रपद
* योग- व्याघात प्रातः 11:56 बजे उपरांत हर्षण
* करण- 1. वणिज- प्रातः08:54 2 विष्टि – रात्रि 20:05:30 बजे उपरांत 3 बव
* चंद्र राशि – कुंभ
चंद्र बल – मेष, वृषभ, मिथुन, सिंह, कन्या, तुला, धनु, मकर, कुंभ,

सम्वत् नाम – शुभकृत
सूर्योदय – 07:08 A.M. सूर्यास्त – 05:37 P.M.
दिनमान – 10:29
रात्रिमान – 13:31 *अशुभ समय* यमगण्ड - प्रातः 7:30 से 9:00 तक राहुकाल- दोपहर 12:00 से 1:30 बजे तक

*(विशेष- राहुकाल चक्र भारत के दक्षिण संभाग में ही मान्य है दक्षिण संभाग के लोगों को शुभ कार्यो में राहु काल के समय का त्याग करना चाहिए किंतु उत्तर भारत में राहुकाल का समय शुभ कार्यों में त्यागने की आवश्यकता नहीं है । ) **

कालवेला या अर्द्धयाम 1. प्रातः 9:45:15 से 11:03:52 बजे तक

  1. रात्रि 3:44:15 से 5:25:37 बजे तक
    गुलिक काल – प्रातः 10:30 से 12:00 बजे तक

दिशा शूलउत्तर दिशा में यात्रा विशेष वर्जित एवं यथासंभव सभी दिशाओं की यात्राओं को टालें

चौघड़िया ( दिन)
1.लाभ- प्रातः 07:08:00 से 08:26:37 तक
2.अमृत-प्रातः 08:26:37 से 09:45:15 तक
3.काल-प्रातः 09:45:15 से 11:03:52 तक (कालवेला निषेध)
4.शुभ-प्रातः 11:03:52 से 12:22:30 तक
5.रोग- दोपहर 12:22:30 से 01:41:07 तक(वारवेला निषेध)
6.उद्वेग-दोपहर 01:41:07 से 02:59:45 तक
7.चंचल- सायं 02:59:45 से 04:18:22 तक
8.लाभ-सायं 04:18:22 से 05:37 तक

चौघड़िया ( रात्रि)
1.उद्वेग-रात्रि 05:37:00 से 07:18:22 तक
2.शुभ-रात्रि 07:18:22 से 08:59:45 तक
3.अमृत-रात्रि 08:59:45 से 10:40:07 तक
4.चंचल-रात्रि 10:40:07 से 12:21:30 तक
5.रोग-रात्रि 12:21:30 से 02:02:52 तक
6.काल-रात्रि 02:02:52 से 03:44:15 तक
7.लाभ-रात्रि 03:44:15 से 05:25:37 तक(कालवेला निषेध)
8.उद्वेग-रात्रि 05:25:37 से 07:07 तक

विशेष
नरसी मेहता जयंती

राजगुरु पंडित रामदेव उपाध्याय ( शास्त्री-आचार्य ,ज्योतिष विद्, बी.ए.)
भू.पू. सहायक आचार्य
श्री ऋषिकुल संस्कृत विद्यालय
श्री डूंगरगढ़
M.N. 9829660721

error: Content is protected !!
विज्ञापन