Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Homeबीकानेरश्री डूंगरगढ़राजकीय एवं निजी विद्यालय, महाविद्यालय, अस्पताल तथा समस्त सरकारी परिसर होंगे तंबाकू...

राजकीय एवं निजी विद्यालय, महाविद्यालय, अस्पताल तथा समस्त सरकारी परिसर होंगे तंबाकू मुक्त

Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

समाचार-गढ, बीकानेर। संभाग के समस्त राजकीय एवं निजी विद्यालय, महाविद्यालय, अस्पताल तथा समस्त सरकारी व निजी कार्यालय परिसरों को तंबाकू मुक्त परिसर बनाया जाएगा। शिक्षण व स्वास्थ्य संस्थानों के 100 गज परिधि में तंबाकू उत्पादों के विक्रय तथा परिसर में तंबाकू का उपयोग पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
संभागीय आयुक्त डॉ नीरज के. पवन ने सोमवार को राज्य सरकार के तंबाकू मुक्त राजस्थान अभियान की 100 दिवसीय कार्य योजना के तहत आयोजित संभाग स्तरीय कार्यशाला के दौरान यह निर्देश दिए। कार्यालय संयुक्त निदेशक बीकानेर जोन द्वारा आयोजित कार्यशाला मे संभागीय आयुक्त ने बताया कि संभाग स्तर पर संचालित नवाचार “मन्सा” यानीकि मिशन अगेंस्ट नारकोटिक्स सब्सटेंस एब्यूज का उद्देश्य भी तभी पूरा होगा जब बीकानेर संभाग तंबाकू मुक्त होगा।
उन्होंने कहा कि संबंधित जिले के शिक्षा व विभाग के अधिकारियों द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए कि समस्त स्कूल, तंबाकू मुक्त परिसर बने। इसी प्रकार उप स्वास्थ्य केंद्र से लेकर मेडिकल कॉलेज तक, कोई भी तंबाकू का उपयोग नहीं करें। उन्होंने संभाग के सभी सरकारी कार्यालयों में इसकी पालना सुनिश्चित करवाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर कार्रवाई के निर्देश दिए।

प्रति माह मनाएंगे ‘नो तंबाकू डे’
संभागीय आयुक्त ने कहा कि संभाग के चारों जिलों में प्रतिमाह एक दिन ‘नो तंबाकू डे’ के रूप में मनाया जाए। इसके लिए तंबाकू उत्पाद विक्रेताओं को इस दिन किसी भी उत्पाद का विक्रय नहीं करने के लिए प्रेरित किया जाए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर तथा नियम विरुद्ध तंबाकू उत्पादों का उपयोग करने वालों के खिलाफ चालान काटे जाएं। संभाग के चारों जिलों में सर्वाधिक चालान करने वाले अधिकारी को संभाग स्तर पर सम्मानित किया जाएगा।

31 मई 2022 तक पूरा राज्य बनेगा तम्बाकू मुक्त क्षेत्र
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य निदेशालय के संयुक्त निदेशक तथा तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डॉ एस.एन. धौलपुरिया ने तम्बाकू मुक्त राजस्थान की सौ दिवसीय कार्य योजना की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 31 मई 2022 तक पूरे राज्य को तम्बाकू मुक्त क्षेत्र बनाने के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत व चिकित्सा मंत्री श्री परसादी लाल मीणा के ध्येय को जन-जन तक पहुंचाने के लिए पूरे सरकारी तंत्र, सिविल सोसाइटी व संस्थाओं को एक साथ लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप प्रत्येक जिले में इन गतिविधियों का समयबद्ध क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए।

उल्लंघनकर्ता को देनी ही होगी चालान राशि
संयुक्त निदेशक बीकानेर जोन डॉ देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि नाबालिक को तम्बाकू उत्पाद बेचने पर कोटपा एक्ट में तो दंड है ही साथ में ज्युवेनाइल जस्टिस एक्ट में प्रावधान अत्यंत सख्त हैं जिसमे कार्यवाही उल्लंघनकर्ता पर बहुत भारी पड़ सकती है। उन्होंने बताया कि चालान काटने पर यदि उल्लंघनकर्ता सहयोग ना करे, राशि ना दे तो इस सम्बन्ध में सम्बंधित थाने में इस्तगासा भी दिया जा सकता है। एसआरकेपीएस के सचिव राजन चौधरी ने सरकार स्तर पर एडवोकेसी द्वारा तंबाकू व्यापार को मदिरा व्यापार की तरह लाइसेंसिंग के अंतर्गत लाने की आवश्यकता पर जोर दिया।

डेयरी बूथ पर तंबाकू उत्पाद मिले, तो रद्द होगा लाइसेंस
संभागीय आयुक्त ने कहा कि रोडवेज बस स्टैंड, डेयरी बूथ पर किसी भी स्थिति में तंबाकू उत्पादों का विक्रय नहीं हो। इसके लिए समय-समय पर औचक निरीक्षण किए जाएं। यदि डेयरी बूथ पर तंबाकू उत्पादों का विक्रय पाया जाता है, तो इसका लाइसेंस अविलंब रद्द कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि स्कूलों की प्रार्थना सभाओं में विद्यार्थियों को नशे के दुष्प्रभाव के बारे में भी बताएं।

वायरल हेपेटाइटिस रोग की प्राथमिकता से होगी स्क्रीनिंग
वायरल हेपिटाइटिस बी नियंत्रण कार्यक्रम की नेशनल नोडल अधिकारी डॉ. संध्या काबरा द्वारा वायरल हेपेटाइटिस बी व सी रोग की स्क्रीनिंग प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीपीटी द्वारा संभाग के चारों जिलों में हो रहे कार्यों वह मेडिकल कॉलेज स्तर पर जारी गतिविधियों की समीक्षा की। कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डॉ एसएन धौलपुरिया ने वायरल हेपेटाइटिस कार्यक्रम को प्रथम पंक्ति पर लाने के निर्देश दिए।

चुरू जिला परिषद एसीईओ एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी डॉ धीरज सिंह बतौर प्रतिनिधि, जिला कलेक्टर चुरू मौजूद रहे और अपने विचार रखे। इस अवसर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. देवेंद्र चौधरी, उपनिदेशक डॉ. राहुल हर्ष, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बीकानेर डॉ. बी. एल. मीणा, सीएमएचओ चूरू डॉ. मनोज शर्मा, डिप्टी सीएमएचओ डॉ लोकेश गुप्ता, आरसीएचओ डॉ राजेश कुमार गुप्ता, श्रीगंगानगर से डिप्टी सीएम्एचओ डॉ करण आर्य, चुरू से अतिरिक्त सीएमएचओ डॉ भंवर लाल शर्मा, डिप्टी सीएमएचओ डॉ देवकरण गुरावा, संभाग के अधिकाँश ब्लॉक सीएमओ, तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के रविंद्र प्रताप आदि उपस्थित रहे। कार्यशाला का संचालन आईईसी कोऑर्डिनेटर मालकोश आचार्य ने किया।

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन