Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
HomeFrontलंपी बीमारी से ग्रसित गोवंश के लिए आगे आया ये समाज, आयुर्वेदिक...

लंपी बीमारी से ग्रसित गोवंश के लिए आगे आया ये समाज, आयुर्वेदिक रोटियां खिलाकर की सेवा, प्रत्येक व्यक्ति को सेवा में जोड़ने की जरूरत

Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र में लंपी बीमारी से रोज गौवंश की मौत हो रही है और प्रशासन द्वारा इसको लेकर कोई सार्थक प्रयास नजर नहीं आ रहे। हालात तो यह है कि लंबी बीमारी से मौत के बाद इन गोवंश को यूं ही इधर-उधर फेंक दिया जाता है जिससे अब आसपास के क्षेत्र में चारों तरफ बदबू फैलने लगी है और इससे महामारी के पहले की भी संभावना है। ऐसे में श्री डूंगरगढ़ क्षेत्र की सामाजिक संस्थाएं व अन्य समाज द्वारा लगातार इसके लिए सार्थक प्रयास कर इन गोवंश को लंपी बीमारी से बचाने की कोशिश की जा रही है ऐसी ही कोशिश श्री डूंगरगढ़ के पुष्करणा समाज द्वारा लंपी ग्रसित गौवंश के लिए की जा रही है। पुष्करणा समाज द्वारा आयुर्वेदिक रोटियां तैयार कर गौवंश को खिलाई जा रही है। पार्षद पवन उपाध्याय का कहना है कि आयुर्वेदिक रोटियां गौवंश को खिलाने से लंपी बीमारी से ग्रसित गोवंश को काफी हद तक फायदा मिलेगा। वही उपाध्याय ने कहा कि इस परिस्थिति में गोवंश को बचाने के लिए क्षेत्र के प्रत्येक व्यक्ति को आगे आकर सेवा में जुटने की जरूरत है। सेवादार नंदकिशोर छंगाणी, इंद्रचंद उपाध्याय, सुरेन्द्र चूरा, अशोक भोजक, शुभकरण पुरोहित, सुभाष शर्मा, पवन देरासरी, पवन व्यास, बबलू उपाध्याय, अनिल भादानी, संजय उपाध्याय, मुन्नीराम जाखड़, हरीश प्रजापत, जय उपाध्याय, अमित देरासरी, प्रवीण प्रजापत ने इस दौरान अपनी सेवाएं दी।

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन