Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
HomeFrontश्रीडूंगरगढ़ में होगा आयोजन, कविता के विविध पक्षों पर होगा विमर्श, इक्कीसवीं...

श्रीडूंगरगढ़ में होगा आयोजन, कविता के विविध पक्षों पर होगा विमर्श, इक्कीसवीं सदी की राजस्थान की कविता पर होगा राज्य स्तरीय समारोह

Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़ राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर और राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, श्रीडूंगरगढ़ के संयुक्त तत्वावधान में 12-13 नवम्बर, 2022 (शनिवार, रविवार) को श्रीडूंगरगढ़ में “इक्कीसवीं सदी की राजस्थान की हिंदी कविता : दशा और दृष्टि” विषय पर केंद्रित दो दिवसीय राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन होगा।राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, श्रीडूंगरगढ़ के अध्यक्ष श्याम महर्षि ने बताया कि संस्कृति भवन में आयोजित समारोह के पहले दिन 12 नवम्बर को सुबह 10 बजे राजस्थान साहित्य अकादमी के अध्यक्ष दुलाराम सहारण, साहित्यकार डा.नंद भारद्वाज, डा. सूरज सिंह नेगी, नेमीचंद पारीक व डा.गजादान चारण के आतिथ्य में समारोह का उद्घाटन होगा। पहले दिन पहले सत्र में “इक्कीसवीं सदी की कविता : लोक का आलोक” विषय के तहत  साहित्यकार सरल विशारद, बीकानेर व सत्यदीप के आतिथ्य में राजस्थान की इक्कीसवीं सदी की कविता और जनवाद विषय पर डॉ- जगदीश गिरि  जयपुर व राजस्थान की कविता और लोक संस्कृति विषय पर डॉ- रमेश मयंक चित्तौड़ संवाद करेंगे । सत्र का संचालन डॉ- घनश्याम नाथ कच्छावा, सुजानगढ करेंगे। इसी दिन दूसरा सत्र “चेतना व आश्वस्ति का स्वर राजस्थान की इक्कीसवीं सदी की कविता” विषय पर डॉ- मदन सैनी व डॉ- बृजरतन जोशी के आतिथ्य में होगा। सत्र में कोटा की साहित्यकार डॉ- अनिता वर्मा राजस्थान की इक्कीसवीं सदी की हिन्दी कविता%आश्वस्त स्वर विषय पर व डॉ- रेणुका व्यास नीलम बीकानेर इक्कीसवीं सदी की कविता विषय पर पत्र वाचन करेंगी। सत्र का संचालन सीकर की कवयित्री  विमला महरिया का होगा। पहले दिन रात 8 बजे साहित्यकार राजेश चड्ढा, सूरतगढ व पवन शर्मा, भादरा के आतिथ्य में डॉ-गजादान चारण, सुजानगढ, छैलू सिंह चारण, नाथूसर, छगनलाल सेवा, सरदारशहर, मनीषा आर्य सोनी, बाबूलाल छंगाणी, बीकानेर,  रूपसिह राजपुरी रावतसर, मधुर परिहार, जोधपुर, मनोज चारण, रतनगढ़, गोपाल पुरोहित, बीकानेर काव्य पाठ करेंगे। संचालन कवयित्री मोनिका गौड़ करेंगी।

समिति सचिव रवि पुरोहित ने बताया कि समारोह के दूसरे दिन 13 नवम्बर को सुबह 10 बजे “समय का साक्ष्य राजस्थान की कविता” विषय पर डॉ चेतन स्वामी व नवनीत पांडे के आतिथ्य में राजस्थान की कविता में युवा कवियों के योगदान व हस्तक्षेप पर डॉ- मदन गोपाल लढा सूरतगढ व इक्कीसवीं सदी की राजस्थान की कविता में मुखर होती नारी विषय पर  मोनिका गौड पत्र वाचन करेंगे। सत्र का संचालन डॉ- संजू श्रीमाली करेंगी। समारोह का समापन साहित्यकार मालचंद तिवारी बीकानेर व नटवरलाल जोशी, फतेहपुर के आतिथ्य में दोपहर 12 बजे होगा। समापन समारोह का संचालन साहित्यकार शंकर सिंह राजपुरोहित करेंगे।

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन