Nature Nature Nature Nature Nature Nature शीतला माता की पूजा की, बासीड़ा का लगाया भोग, सुख, शांति व समृद्धि की कामना की - Homepage
Nature Nature Nature Nature Nature Nature Nature Nature

शीतला माता की पूजा की, बासीड़ा का लगाया भोग, सुख, शांति व समृद्धि की कामना की

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़। श्रीडूंगरगढ़ अंचल में आज शीतला माता की पूजा की गई। महिलाओं ने व्रत रखकर सुख, शांति व समृद्धि की कामना की। महिलाओं ने शीतला माता के बासीड़ा का भोग लगाया। जानें कुछ और परंपरा व मान्यताये-

हिंदू धर्म में अनेक देवी-देवताओं की मान्यता है। देवी शीतला भी इनमें से एक है। विवाह आदि से पहले शीतला माता की पूजा करने की परंपरा है। चैत्र मास में भी देवी शीतला की पूजा व्रत विशेष रूप से किया जाता है। इस व्रत में एक दिन पहले बनाया हुआ भोजन किया जाता है, इसलिए इसे बासीड़ा, बसौड़ा, बसियौरा व बसोरा भी कहते हैं। देवी को भी भोग में ठंडे पकवान चढ़ाए जाते हैं। मान्यता है कि देवी शीतला की पूजा से शीतजन्य रोग जैसे चैचक, खसरा आदि नहीं होते ह ।

स्थानीय परंपरा के अनुसार, देवी शीतला की पूजा 2 दिन की जाती है। किसी स्थान पर चैत्र कृष्ण सप्तमी पर देवी शीतला की पूजा की परंपरा है तो कहीं चैत्र कृष्ण अष्टमी पर इन व्रतों को क्रमशः शीतला सप्तमी और शीतला अष्टमी कहा जाता है। इस बार शीतला सप्तमी 14 मार्च और शीतला अष्टमी 15 मार्च को है।

इस विधि से करें देवी शीतला की पूजा

  • व्रती (व्रत करने वाली महिलाएं) स्थानीय परंपरा के अनुसार, शीतला सप्तमी या अष्टमी की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करें –

और इसके बाद ये मंत्र बोलकर संकल्प लें- मम गेहे शीतलारोगजनित उपद्रव प्रशमन

पूर्वकायु: आरोग्य ऐश्वर्याभिवृद्धियेशीतला सप्तमी/अष्टमी व्रतं करिष्ये

  • इस प्रकार संकल्प लेने के बाद माता शीतला की पूजा करें। जल चढ़ाएं और अबीर, गुलाल, कुंकुम आदि चीजें भी। (बासी) खाद्य पदार्थ, मेवे, मिठाई, पूआ, पूरी, दाल-भात आदि का भोग लगाएं। इसे बाद परिक्रमा करें। देवी शीतला की पूजा में दीपक नहीं जलाया और न ही अगरबत्ती । इसके पीछे कारण है कि देवी शीतला ठंडी प्रकृति की देवी हैं। इनकी पूजा में दीपक का प्रयोग वर्जित है।
  • • पूजा के बाद शीतला स्तोत्र का पाठ करें, शीतला माता की कथा सुनें। दिन भर शांत भाव से सात्विकता पूर्ण रहें। इस दिन व्रती तथा उसके परिवार के किसी अन्य सदस्य को भी गर्म भोजन नहीं करना चाहिए।
  • Ashok Pareek

    Related Posts

    बालिका छात्रावास में कमरे निर्माण की घोषणाएं, नैण परिवार रिड़ी, जाखड़ परिवार बेनीसर एवं खिलेरी परिवार जैतासर ने की, जताया आभार

    समाचार गढ़, 16 जून, श्रीडूंगरगढ़। महर्षि दयानंद सरस्वती छात्रावास विकास समिति श्रीडूंगरगढ़ की बैठक छात्रावास में आयोजित की गई। बैठक में मंत्री सुशील सेरडिया ने आय – व्यय एवं छात्रावास…

    बीकानेर से अब दिल्ली और जयपुर सीधी हवाई यात्रा होगी शुरु, देखें खबर

    समाचार गढ़, 16 जून, श्रीडूंगरगढ़। बीकानेर से जयपुर के बीच सफर करने वाले पैसेंजर्स अब हवाई सेवा का लाभ भी उठा सकेंगे। 17 जून से नाल एयरपोर्ट से बीकानेर-दिल्ली वाया …

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You Missed

    बालिका छात्रावास में कमरे निर्माण की घोषणाएं, नैण परिवार रिड़ी, जाखड़ परिवार बेनीसर एवं खिलेरी परिवार जैतासर ने की, जताया आभार

    बालिका छात्रावास में कमरे निर्माण की घोषणाएं, नैण परिवार रिड़ी, जाखड़ परिवार बेनीसर एवं खिलेरी परिवार जैतासर ने की, जताया आभार

    बीकानेर से अब दिल्ली और जयपुर सीधी हवाई यात्रा होगी शुरु, देखें खबर

    बीकानेर से अब दिल्ली और जयपुर सीधी हवाई यात्रा होगी शुरु, देखें खबर

    मंत्री किरोड़ीलाल मीणा के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार, अब आया ये बड़ा अपडेट

    मंत्री किरोड़ीलाल मीणा के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार, अब आया ये बड़ा अपडेट

    विधायक ताराचन्द सारस्वत पहुंचे पीबीएम अस्पताल

    विधायक ताराचन्द सारस्वत पहुंचे पीबीएम अस्पताल

    बीकानेर: खाजूवाला विधायक को आया हार्ट अटैक

    बीकानेर: खाजूवाला विधायक को आया हार्ट अटैक

    जीएसएस पर कार्यरत ठेकाकर्मी से मारपीट, चार जनों के खिलाफ़ मामला दर्ज

    जीएसएस पर कार्यरत ठेकाकर्मी से मारपीट, चार जनों के खिलाफ़ मामला दर्ज
    Social Media Buttons
    Telegram
    WhatsApp
    error: Content is protected !!
    Verified by MonsterInsights