Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
HomeFrontबारिश की बेरुखी से किसानों के सपने होते जा रहे चूर, अरमानों...

बारिश की बेरुखी से किसानों के सपने होते जा रहे चूर, अरमानों पर फिर पानी , फसलें पहुंची जलने के कगार पर

Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। इस बार अच्छे जमाने की आस लगाए किसानों ने बंपर पैदावार की आस में जमकर बुवाई की थी लेकिन ऐन वक्त पर बारिश की बेरुखी ने किसानों की आस को चिंता की लकीरों में बदल दिया है। पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण पकाव पर खड़ी फसलें बुरी तरह मुरझा गई हैं किसानों के अरमानों की फसल अब जलने के कगार पर पहुंच गई है खेतों में खड़ी ग्वार,मूंग, बाजरा,तिल, मोठ की फसल बारिश के अभाव में तिलमिला गई है। बारिश के अभाव में सर्वाधिक मोठ की फसल प्रभावित नजर आ रही है। किसानों का मानना है कि बारिश के बगैर ग्वार की फसल भी नहीं हो पाएगी । क्योंकि अब बरसात की सख्त जरूरत है अगर इस वक्त पांच सात दिनों में बरसात नहीं होती हैं तो फसलों के खराब होने की पूरी आशंका है। सातलेरा गांव के किसान मोटाराम,मालाराम,लालदास,
आशाराम कमल कुमार आदि ने बताया कि बगैर बरसात के मुंगफली की फसल भी मुरझानी शुरू हो गई है। बिना बरसात के मूंगफली की फसल का उत्पादन भी प्रभावित होगा ।कई खेतो में तो किसानों ने मोठ की फसल को उपाड़ना शुरू भी कर दिया है किसानों का कहना कि पूरी तरह जलने के बाद चारा भी हाथ नहीं लग पाएगा।किसानों का कहना कि बारिश के अभाव में ग्वार की फसल में भी फाल ना के बराबर है।। किसानों को चिंता सता रही है कि अगर आगामी पांच सात दिनों में बरसात नहीं होती हैं तो किसानों के अरमानों पर पानी फिर जाएगा ।
हालांकि मौसम विभाग ने संभावना व्यक्त की है कि 9- 10 सितंबर बाद मौसम बदलेगा तथा बारिश भी होगी ।लेकिन किसानों का कहना है कि तीन चार दिनों में मोठ की फसल सत्तर फीसदी सूख जायेगी ।अगर बरसात होती है तो ग्वार,बाजरा,तिल,मूंगफली की फसल के लिए राम बाण साबित होगी ।

बारिश की बेरुखी के चलते सातलेरा गांव की रोही में जलने के कगार पर पहुंची मोठ की फसल ।फोटो गौरीशंकर तावनिया सातलेरा
बारिश की बेरुखी के चलते सातलेरा गांव की रोही में जलने के कगार पर पहुंची मोठ की फसल ।फोटो गौरीशंकर तावनिया सातलेरा
बरसात के अभाव में सूखने लगी मोठ की फसल । फोटो गौरी शंकर तावनिया
बरसात के अभाव में मुरझाने लगी मूंगफली की फसल उत्पादन प्रभावित होने की बढ़ी आशंका । फोटो गौरी शंकर तावनिया सातलेरा
Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन