Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD
HomeFrontश्रीडूंगरगढ़ विकास मंच का गठन, नगर के लोगों को जागृत हो जाने...

श्रीडूंगरगढ़ विकास मंच का गठन, नगर के लोगों को जागृत हो जाने का है हेला, इनको मिली अध्यक्ष, मंत्री पद की जिम्मेदारी

Samachargarh AD
Samachargarh AD
Samachargarh AD

श्याम महर्षि अध्यक्ष और राजकुमार स्वामी सर्व सम्मति से मंत्री मनोनीत

समाचार-गढ़, श्रीडूंगरगढ़। श्रीडूंगरगढ़ के विकास में सहभागिता निभाने के निमित्त बुधवार को सायंकाल नगर के जागरूक लोगों की एक बैठक संस्कृति भवन में हुई। उपस्थित जनों ने यहां श्रीडूंगरगढ़ विकास मंच नाम से एक गैर राजनीतिक सामाजिक संस्था का गठन किया। बैठक के प्रारंभ में एक लम्बी भूमिका के साथ डाॅ चेतन स्वामी ने कहा कि श्रीडूंगरगढ़ सुन्दर बसावट वाला शहर है, मगर सब चीजों में एक तरतीब का अभाव नजर आता है। शहर के विकास में बौद्धिक हस्तक्षेप रखने के लिए एक गैर राजनीतिक संस्था का अस्तित्व में आना जरूरी है। उन्होंने कुचामनसिटी, नोखा आदि शहरों में विकास मंचों द्वारा जनहित में करवाए कार्यों का उल्लेख करते हुए बताया कि वहां विकास मंचों की नगरीय निकायों के मध्य समानांतर उपस्थिति रही है। श्रीडूंगरगढ़ विकास मंच नगर के लोगों को जागृत हो जाने का हेला है। इसमें सभी के जुड़ने की अपेक्षा है।
बैठक में इक्कीस सदस्यीय कार्यकारिणी के लिए श्री श्याम महर्षि को अध्यक्ष, श्री राजकुमार स्वामी को मंत्री तथा डाॅ चेतन स्वामी, श्री विनोदगिरि गुसाईं, लाॅयन महावीर माली को उपाध्यक्ष बनाया गया। श्री बजरंग शर्मा कोषाध्यक्ष बनाए गए।
बैठक को संबोधित करते हुए श्याम महर्षि ने कहा कि यह मंच बहुत शीघ्र नगर में जागरूकता के सभी मुद्दों पर पूरे शहर के लोगों को इस संगठन से जोड़ने का अभियान छेड़ेगा। जो इस शहर के प्रवासी हैं, उनका जुड़ाव भी पूरा पूरा रहेगा। संस्था अपनी वैधानिक औपचारिकताएं पूरी कर शीघ्र कार्यों में संलग्न हो जाएगी।
बैठक के प्रारंभ में सामाजिक कार्यकर्ता विमल भाटी ने कहा कि इस संस्था के उद्देश्य पावन रहेंगे इसलिए सफलता में कोई संदेह नहीं है। हमें इस बात को हटाना है कि हमारा शहर विकास से दूर है। साहित्यकार सत्यदीप ने कहा कि हमें जन्म भूमि के प्रति कृतज्ञ बनना है। हमें अपनी अगली पीढ़ी को एक अच्छी सौगात देनी है। ओमप्रकाश गुरावा ने कहा कि हमें प्राथमिकता से नगर के जल भराव की समस्या से निपटना है तथा पारंपरिक जल स्रोतों को सुन्दर रूप देना है। अध्यापक सुशील सेरड़िया ने कहा कि शहर के सौंदर्य के प्रति हमें सजग हो कर काम करना है। पूर्व पार्षद मूलचंद स्वामी ने शंका प्रकट करते हुए कहा कि हमारे शहर में आगे होकर काम करने वाले लोगों की संख्या बहुत कम है। कार्यकर्ताओं का अभाव सदैव खटकता है। सामाजिक कार्यकर्ता भंवरलाल दूगड़ ने कहा कि नगर के प्रत्येक वार्ड से पांच या दस सदस्य इस संस्था में लिए जाने से संस्था को मजबूती मिलेगी। आपणो गांव सेवा समिति के अग्रणी व्यक्ति शूरवीर मोदी ने कहा कि बाजार के निकट संस्था का कार्यालय होना चाहिए, जहां प्रति दिन लोग दो घंटे बैठकर अपनी शिकायत टाइप करवा सके। शिकायत के लिए अब तक सही माध्यम नहीं मिल रहा है। स्कूल प्रबंधक सुरेन्द्र चूरा ने कहा कि व्यवस्थित मास्टर प्लान के अभाव में हमारा शहर उजड़ा हुआ सा लगता है। श्रीडूंगरगढ़ के निचले क्षेत्र में पचास साल में जल भराव के कारण तीन तीन बार मकान नए बनवाने पड़े। राजनीतिक कार्यकर्ता विनोदगिरि गुसाईं ने कहा कि विकास मंच की अच्छी शुरुआत हुई है। लोगों में जज्बा पैदा करेंगे तो सफलता मिलती चली जाएगी। इस अवसर पर उन्होंने संस्था को 21 हजार रुपये की राशि का प्रारंभिक सहयोग करने की घोषणा की। कोषाध्यक्ष बजरंग शर्मा ने कहा कि हम ईमानदार होकर काम करें तो कोई लक्ष्य मुश्किल नहीं है। राजेश सारस्वत ने इस संस्था के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति को आवश्यक बताया। सत्यनारायण योगी ने कहा कि प्रशासन से काम कराने में संघर्ष तो करना पड़ेगा। संस्था के मंत्री राजकुमार स्वामी ने सबको वृहतर रूप से जुडने का आग्रह किया। बैठक में नगर के सभी गणमान्य जन मौजूद रहे।

Samachargarh AD
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
विज्ञापन