Samachargarh AD
Samachargarh AD
Home Blog Page 2

मतदाता सूचियों के शुद्धिकरण से लोकतंत्र होगा मजबूत,
श्रीडूंगरगढ़ महाविद्यालय में आधार लिंकेज फॉलोअप कार्यशाला आयोजित


बीकानेर, 21 सितम्बर। विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान के तहत श्रीडूंगरगढ़ महाविद्यालय में बुधवार को उपखण्ड स्तरीय स्वीप समिति एवं महाविद्यालय निर्वाचक साक्षरता क्लब की ओर से आधार लिंकेज प्रेरणा फॉलोअप कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में राज्य स्तरीय निर्वाचन प्रशिक्षक डॉ. राधा किशन सोनी ने कहा कि मतदाता पहचान पत्र को आधार से लिंक करने सम्बन्धी भारत निर्वाचन आयोग की पहल से निर्वाचन एवं मतदान में पारदर्शिता आएगी। मतदाताओं की पहचान तथा मतदाता सूची में डुप्लीकेसी समाप्त होगी। उन्होंने मतदाता वीएचए, एनवीएसपी या वोटर पोर्टल के माध्यम से घर बैठे फॉर्म 6 बी भरकर आधार लिंक करवाने की जानकारी दी।
जिला निर्वाचन प्रशिक्षक डॉ. मनीष कुमार सैनी ने वोटर हेल्प लाइन एप्प के द्वारा मौजूदा मतदाताओं के आधार लिंकेज, मतदाता नव पंजीकरण, स्थानान्तरण, विलोपन आदि की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि किसी मतदाता के पास आधार नंबर नहीं है तो वह आयोग द्वारा अधिस्वीकृति अन्य 11 दस्तावेजों में से कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत कर सकता है। मुकेश कुमार झरवाल के अनुसार 17 वर्ष से अधिक आयु का पात्र व्यक्ति मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए फॉर्म 6 में आवेदन कर सकता है। जनवरी, अप्रेल, जुलाई या अक्टूबर की पहली तारीख को 18 वर्ष पूर्ण करने पर उसका नाम मतदाता सूची में स्वत: जुड़ जाएगा। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य ने भी विद्यार्थियों को सम्बोधित कर आधार लिंकेज के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के व्याख्याता सुशील आचार्य, डॉ. सरिता रंगा, अमित व्यास, प्रभुराम, डॉ. राजेश खान, डॉ राजेश सेवग, डॉ. मनोज शर्मा सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने भाग लिया।

उदरासर में ग्राम सेवा सहकारिता समिति के चुनाव सम्पन्न, 6 गांवों से ये हुए विजयी

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़।
ग्राम उदरासर चल रहे ग्राम सेवा सहकारिता समिति चुनाव में कल वोटिंग शांति पूर्वक सम्पन हुई सुबह 10 बजे से लेकर साम 6बजे तक से मतदान हुआ आज सुबह 10 बजे वोटो की गिनती शुरू हुई। ग्राम सेवा सहकारिता समिति में 6 गांव हैं जिसमे ग्राम उदरासर, धोलिया, लाधरिया ,जालबसर ,बिरमसर ओर लाखनसर हैं चुनाव बड़े रोचक मोड में यहां वार्ड 12 हैं जिसमे 1 नम्बर वार्ड में डूंगरराम को 50 वोट मिले वही इनके सामने दानाराम को 32 वोट मिले इसमें डूंगरराम जीते । वार्ड 2 नम्बर में तुलछिराम गोदारा को 64 वोट व इनके सामने जोराराम को 21 वोट मिले तुलछिराम जीते।वार्ड 3 में सहीराम को 41 वोट व अशोक कुमार को 37इसमें सहीराम जीते, वार्ड 4 में निर्विरोध चुनाव था और वार्ड 5 में आशाराम को 36वोट मिले व धूड़ाराम को 39 वोट मिले धूड़ाराम रहे विजय। वार्ड 6 में रामूराम को 50वोट व श्रवणकुमार को 25 वोट मिले रामूराम विजय रहे। वार्ड 7 में राजदेवी को 38ओर अछनकवर को 39 वोट अच्छनकवर जीते। वार्ड 8 में मुनिराम को 36ओर राजूराम को 35 मिले इस मे मुनिराम जीते। वार्ड 9 में रामनिवानी को 34वोट ओर सोहनराम को 43 मिले इसमें सोहनराम जीते। वार्ड 10 में भूपनाथ को 4ओमप्रकाश को 33 ओर लेखराम 33को वोट मिले इसमे वार्ड टाई रहा चिठी खेल में ओमप्रकाश जीते।वार्ड 11 में रामेश्वर को 49ओर रेवंतराम को 39, रामेश्वर विजय रहे।वार्ड 12 में अऋणी उमीदवार के रूप में दुर्गाराम को 161ओर मोहनराम को 92वोट इसमें दुर्गाराम इतने वोट से जीते।

सभी फ़ोटो पवन सारस्वत, उदरासर

थानाधिकारी का किया स्वागत, यातायात व्यवस्था सुधारने की मांग की

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। मानवाधिकार एवं आरटीआई जागरूकता समिति द्वारा थानाधिकारी अशोक विश्नोई के श्रीडूंगरगढ़ पदस्थापना पर स्वागत किया गया तथा यातायात व्यवस्था सुधारने बाबत ज्ञापन दिया। समिति के प्रदेश सचिव ललित सिंह ओड की अगुवाई में जिला महामंत्री रामुनाथ जाखड़, शहर मंत्री अनमोल मोदी ने बताया कि श्रीडूंगरगढ़ कस्बे के घूमचक्कर, घूमचक्कर से पुस्तकालय और पुरानी घास मंडी, धान मंडी, अमीर पट्टी, स्टेट बैंक, मुख्य बाजार, ग़ांधी पार्क के पास अनाधिकृत रूप से कब्जा करके अपनी दुकानों के आगे अव्यवस्थित सामान रखकर आवागमन को बाधित किया जा रहा है।
इससे भी इतर पूरे मुख्य मार्गाे पर ग्रामीण व आस पास के दुकानदारों द्वारा अपने वाहन अव्यवस्थित, बेतरतीब रूप से वाहन खड़े करके भी यातायात बाधित किया जा रहा है जिससे आमजन व राहगीरों को काफी परेशानी का का सामना करना पड़ रहा है। अस्थाई दुकानों और रेहड़ी वालों ने अपनी दुकानों को स्थायी करके सड़को को संकरी कर दिया है जिससे आमजन को यातायात संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। अव्यवस्था को जल्द सुधारने की मांग की गई है। इस दौरान राम कूकना, कोजूराम रेगर, मनीष जोशी, मोहित पूरी, सुनील कूकना, बाबूलाल देहडू, रामावतार शर्मा, अशोक जाखड़ उपस्थित रहे।

श्रीडूंगरगढ़ में कल होगा प्राकृतिक चिकित्सा व योग शिविर का शुभारम्भ, लेंवे लाभ

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। श्रीडूंगरगढ़ में प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग शिविर का शुभारम्भ कल बुधवार को होने जा रहा है। यह शिविर आचार्य श्री तुलसी महाप्रज्ञ साधना संस्थान के तत्वाधान में धर्मचंद भीखमचंद पुगलिया चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा निःशुल्क लगाया जा रहा है। शिविर तेरापंथ भवन धोलिया नोहरा कालू बास में सुबह 6.30 से 7.30 बजे तक योग एवं उसके बाद सुबह 8 बजे से 12.30 बजे तक प्राकृतिक चिकित्सा शिविर लगाया जायेगा। अध्यक्ष भीखमचंद पुगलिया व मंत्री मालचंद सिंघी ने बताया कि आयोजन धर्मचंद पुगलिया की स्मृति में किया जा रहा है। पिछले वर्ष भी शिविर में क्षेत्र के रोगियों ने बहुत लाभ लिया था। यह शिविर 21 सितम्बर से 20 अक्टूबर 2022 तक रहेगा। बता दें कि शिविर में अनेक बीमारियों का ईलाज पूरी तरह प्राकृतिक चिकित्सा विधि से किया जाता है।

प्राकृतिक चिकित्सा क्या है
प्राकृतिक चिकित्सा जीवन जीने की एक शैली है प्राक्रतिक चिकित्सा का नाम आपने सुना होगा प्राकृतिक का मतलब कुदरत और चिकित्सा का मतलब इलाज. प्राकृतिक एक ऐसी डॉक्टर है चाहे कैसा भी रोग हो उसे ठीक कर देती है. यह चिकित्सा बहुत ही ज्यादा पुरानी है जब से राम ओर रावण का इतिहास है यह तब से हैं यह एक ऐसी चिकित्सा है जिसमे मनुष्य को कोई भी दवाई नहीं खिलाई जाती है सिर्फ प्रकृति के पंच तत्वों द्वारा इलाज किया जाता है जिन्हें हम आकाश तत्व , जल तत्व ,प्रथ्वी तत्व , अगनी तत्व , वायु तत्व

प्राकृतिक चिकित्सा किन तत्वों से मिलकर बनी है
प्राकृतिक चिकित्सा उन तत्वों से मिलकर बनी हुई है जो पुरे संसार में उपलब्ध है और मनुष्य आखिरी में उन्ही में लीन हो जाता है यह पुरे संसार के ओसे तत्व है जिसकी रचना स्वम भगवान ने की है

1) आकाश तत्व :- जो की एक गुण शब्द है

2) वायु तत्व :- जो की दो गुणों का शब्द है शब्द +स्पर्श जिसे बोल भी सकते है और छु भी सकते है

3) अगनी तत्व :- जो की तीन गुणों वाला शब्द है जिसे हम बोल भी सकते है छु भी सकते है और स्पर्श भी कर सकते है

4) जल तत्व :- यह चार गुणों वाला शब्द है जिसे हम बोल भी सकते है और छु भी सकते है और देख भी सकते है और पी भी सकते है

5} प्रथ्वी तत्व :- यह पांच गुणों वाला शब्द है जिसे हम बोल भी सकते है छु भी सकते है उसका रूप भी देख सकते है +रस +गंध

प्राकृतिक चिकित्सा की रचना कब हुई
दोस्तों बहुत हजारो सालो पहले इस चिकित्सा की रचना हुई थी यह रावण के जमाने की चिकत्सा है और उसके बाद महात्मा गाँधी ने इस चिकित्सा की शुरुआत की और उसे हम सबके सामने उजागर की इससे पहले यह बिलकुल लुप्त ही हो गयी थी प्राकृतिक चिकित्सा के दस मुलभुत सिदान्त है

प्राकृतिक चिकित्सा के दस मुलभुत सिदान्त
1) सभी रोग एक हा उनके कारण अनेक :-

2) रोग का कारण कीटाणु नहीं

3) तीव्र रोग शत्रु नहीं मित्र होते है

4) प्राकृतिक स्वम चिकित्सक है

5) चिकित्सा रोग की नहीं रोगी के शरीर की होती है

6) रोग निदान की विशेष आवश्यकता नहीं

7) जीर्ण रोग के रोगियों के आरोग्य लाभ में समय लग सकता है

8) प्राकृतिक चिकित्सा से दबे रोग उब उभरते है

9) मन शरीर और आत्मा तीनो की चिकित्सा साथ साथ

10) प्राकृतिक चिकित्सा में उत्तेजक दवाई का दिए जाने का प्रश्न ही नहीं

पांच खिलाड़ियों का राष्ट्रीय टीम में चयन

समाचार गढ़। बाड़मेर जिले में आयोजित जूनियर राज्यस्तरीय टेनिस बॉल क्रिकेट प्रतियोगिता 4 से 6 सितम्बर को आयोजित हुई। जिसमे बीकानेर जिले की बालिका टीम ने राजस्थान में विजेता स्थान प्राप्त किया। शानदार प्रदर्शन के आधार पर बीकानेर जिले की चार खिलाड़ी ममता गोदारा, पारुल, दीक्षा कंवर , तम्मना बानो, और बालक में नितिन का राष्ट्रीय टीम में चयन हुआ। चयनित खिलाड़ी 21 से 24 को हरिद्वार में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। संघ के अध्यक्ष विमल भाटी, संघ के सचिव रोशन छिम्पा संरक्षक जाकिर अली ने खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देकर राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए रवाना किया। बीकानेर की भागवंती महिया को राजस्थान बालिका टीम की मैनेजर नियुक्त किया है।

भारती निकेतन महाविद्यालय में आयोजित हुआ फॉलोअप कैम्प

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। कस्बे के भारती निकेतन महाविद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ में मंगलवार को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान के अंतर्गत वोटर.आई.डी.से आधार लिंक की कार्यशाला के फॉलोअप कैम्प का आयोजन किया गया l महाविद्यालय के प्राचार्य संजय कुमार व्यास ने बताया कि गत सप्ताह 13 सितम्बर, मंगलवार को इस कार्यशाला के तहत योग्य मतदाताओं के नाम मतदाता सूचियों में जोड़ने एवं मतदाता पहचान पत्र को आधार कार्ड से लिंक करने का प्रशिक्षण उपस्थित छात्राओं को दिया गया था l आज कार्यशाला के फॉलोअप कैम्प में मास्टर ट्रेनर श्रवण मोटसरा,ओमप्रकाश सारण के साथ राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ के ई. एल. सी. प्रभारी एवं मास्टर ट्रेनर डॉ.मनीष कुमार सैनी ने आधार लिंकिंग की प्रगति के बारे में छात्राओं से फीडबैक लिया l कार्यशाला में उपस्थित छात्राओं द्वारा इस सप्ताह में स्वयं एवं परिवार के वोटर आई. डी. से आधार लींकिंग का कार्य आशानुरूप किया गया। निर्वाचन कार्यालय से व्यवस्थापक मुकेश झरवाल सहित सभी बी.एल.ओ. उपस्थित रहे।कार्यशाला में कॉलेज स्टाफ एवं संस्था के निदेशक ओमप्रकाश स्वामी द्वारा दिया गया योगदान भी सराहनीय रहा।

लखासर में कुछ शर्तों के साथ धरना 1 महिने स्थगित

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले दिया जा रहा लखासर धरना आज 55 वें दिन ग्रामीणों के दबाव और चक्का जाम की चेतावनी पर प्रशासनिक समन्वय से कुछ शर्तों के साथ 17 सितम्बर को स्थगित हुआ ।

पिछले 55 दिन से लखासर गांव में नवनिर्मित सूडसर उप तहसील में शामिल दूरदराज के गांव को संशोधन कर पुऩ श्री डूंगरगढ़ में शामिल करने के लिए संयुक्त संघर्ष समिति के नेतृत्व में विरोध धरना चल रहा था। कल राजस्थान सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा ने धरना स्थलपर पहुंच कर प्रतिनिधिमंडल से वार्ता की तथा प्रतिनिधिमंडल ने दूरभाष पर जिलाधीश बीकानेर से भी वार्ता की आपसी समझाइश और समन्वय से सुबह जिला कलेक्टर ने अपने प्रतिनिधि के तौर पर श्री डूंगरगढ़ उपखंड अधिकारी डॉ दिव्या चौधरी को धरना स्थल पर भेजा। सरकार के प्रतिनिधि व जिला कलेक्टर बीकानेर और उपखंड अधिकारी ने संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया है कि आपकी 10 ग्राम पंचायतों की जो मांग है वह तत्काल प्रभाव से पूरी हो व जो दूरदराज के ग्राम पंचायत हैं उनको पुनः श्री डूंगरगढ़ तहसील में अगले 15 दिनों में शामिल कर देंगे अतः आप धरना समाप्त कर दें संघर्ष समिति के धरना प्रतिनिधि मंडल ने आपस में बातचीत कर व सर्वसहमति से सरकार के प्रतिनिधि व जिलाधीश बीकानेर के वादे को मानते हुए सरकार और प्रशासन को 1 महीने का वक्त देने का निर्णय किया। अगले 1 महीने के लिए धरने को स्थगित कर दिया अगर इसी समय के दौरान उक्त काम हो जाता है तो हम सब धरने मे पिछले 55 दिनों से सहयोग करने वाले तमाम ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों व सामजिक संघठनो का धन्यवाद ज्ञापित करते है अगर सरकार के निर्णय को 1 महिने मे वापिस नहीं लेगी तो हम अनिश्चित कालीन धरना डालकर महापड़ाव तथा चक्का जाम करेगे तथा पुनः मजबूती से धरने पर बैठ जाएंगे और इस बार बड़ा आंदोलन करेंगे। अभी प्रशासन व सरकार के नुमाइंदे की मांग पूर्ण करने की सहमति इस शर्त के साथ धरना साथगित किया गया।
संयुक्त संघर्ष समिति से जुड़े युवा नेता मांगीलाल गोदारा ने कहा हमारी लड़ाई सरकार बेतुके निर्णय से है हम आम जनता की सुविधा के लिए संघर्ष कर रहे थे आगामी 1 महीने के समय के और शर्तों पर धरना स्थगित किया गया है अगर सरकार कोताही बरतती है तो 1 महिने बाद बड़ा जन आंदोलन होगा चक्का जाम महापड़ाव होगा प्रतिनिधि मण्डल मे वार्तालाप में श्रीडूंगरगढ़ SDM दिव्या चौधरी, प्रधान प्रतिनिधि केशराराम गोदारा, नानुराम नैण, भाजपा नेता तोलाराम जाखड़, सामाजिक कार्यकर्ता गोरधन खिलेरी, धन्ने सिंह, कुनणा राम सारस्वत, कानाराम मेघवाल, बिरबल राम गोदारा, राजू सिंह राजपूरोहित, शिव रत्न शर्मा, बजरंग सिंह, मुलचन्द शर्मा, महेन्द्र सिंह, खियाराम गोदारा, लक्ष्मण सिंह आदि उपस्थित रहे।

गाजे बाजे के साथ 3 अक्टूबर को रवाना होगा सालासर पैदल यात्री संघ

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। हर साल की भांति इस वर्ष भी सातलेरा गांव से सालासर पैदल यात्री संघ आसोज माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी को 3 अक्टूबर वार सोमवार को सुबह 6:00 बजे गाजे-बाजे साथ सालासर के लिए प्रस्थान करेगा । संघ के व्यवस्थापक बजरंग दास स्वामी ने बताया कि संघ 3 अक्टूबर वार सोमवार को सुबह बालाजी महाराज के मंदिर से धोक लगाकर पूजा अर्चना के बाद सालासर के लिए रवाना होगा । जो भी पैदल यात्रा में शामिल होना चाहता है वह अपना नाम लिखवा सकता है। पैदल यात्री संघ के साथ चाय नाश्ता खाना मेडिकल आदि की व्यवस्था होगी । पैदल यात्री संघ 5 अक्टूबर को शाम सालासर धाम पर पहुंचकर श्री बालाजी महाराज के चरणों में धोक लगाएगा । संघ की रवानगी से पूर्व संघ परिवार की तरफ से बालाजी महाराज के मंदिर में सुंदरकांड के पाठ किए जाएंगे । स्वामी ने बताया कि पैदल यात्री संघ की रवानगी को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है।

इन महत्वपूर्ण लक्षणों के माध्यम से हर व्यक्ति अपने स्वास्थ्य की पहचान कर सकता है। : योग एक्सपर्ट कालवा

आम आदमी अगर स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह रहा तो आने वाले समय में अरोग्य की परिभाषा केवल किताबों में ही पढ़ने को मिलेगी।

श्री डूंगरगढ़। राजस्थान योग शिक्षक संघर्ष समिति के प्रदेश संरक्षक योगाचार्य ओपी कालवा ने निरोगी शरीर के लक्षणों की व्याख्या करते हुए बताया जीवन में वही व्यक्ति निरोगी रहता है जो प्रकृति के निकट रहता है। आज का मानव प्रकृति से इतनी दूर जा पड़ा है और इसका परिणाम इतना भयानक हुआ है कि आज सारे संसार में एक भी पूर्ण आदर्श निरोगी व्यक्ति का मिलना यदि असंभव नहीं तो अत्यंत कठिन अवश्य हो गया है। डॉक्टर फ्राइड ने एक जगह लिखा है कि मनुष्य शरीर में साधारण बीमारी का होना ही उसके निरोगी होने का प्रमाण है। जबकि प्राकृतिक चिकित्सकों के मन से वही व्यक्ति निरोगी कहलाएगा जिसका शरीर विकार अथवा विजातीय द्रव्य से सर्वथा रहित है और जिसकी समस्त इंद्रियों और अंग प्रत्यंग सुचारू रूप से अपना अपना कार्य संपादन करते हैं। साथ ही साथ जो शरीर मन और आत्मा तीनों से एक साथ ही स्वस्थ है। आयुर्वेद के ग्रंथ सुश्रुत संहिता में ऋषि चरक लिखते है । ” समदोषाः समाग्निश्च समधातु मल क्रियाः । प्रसन्नात्मेन्दियमनः स्वस्थ इत्यभिधीयते ।। ” भावार्थ : जिसके तीनों दोष वात , पित्त एवं कफ सम हो जठराग्नि सम ( न अधिक मंद , न अधिक तीव्र हो ) शरीर को धारण करने वाली सप्त धातुऐं ( रस , रक्त , मांस , मेद , अस्थि , मज्जा तथा वीर्य ) उचित अनुपात में हो मल मूत्र की क्रिया सम्यक प्रकार से होती हो और दसों इंद्रियां ( कान , नाक , आंख , त्वचा , रसना , गुदा , जननेद्रियां , हाथ , पैर व मन ) एवं इनका स्वामी आत्मा भी प्रसन्न हो तो ऐसे व्यक्ति को स्वस्थ व्यक्ति कहा जा सकता है। योगाचार्य ओपी कालवा ने जानकारी देते हुए निरोगी शरीर के कुछ लक्षणों के बारें में बताया जिनसे किसी व्यक्ति के उत्तम , मध्यम , स्वास्थ्य की जांच आसानी से की जा सकती है । 1. दिल गवाही दे कि शरीर में कोई रोग नहीं है और वह शत – प्रतिशत निरोग है । 2. कष्ट या व्याधि के संबंध में कोई जानकारी या अनुभव न हो । 3. जिसे समझने की आवश्यकता न हो कि उसके पास शरीर नाम की भी कोई चीज है । 4. जो काम के समय काम में और विश्राम के समय विश्राम में रस और आनंद ले सकता है । 5. जो सहनशील हो सख्त काम से न घबराता हो जो स्वतंत्र विचार वाला , निर्भीक , अध्यवसायी , दृढ़प्रतिज्ञ , आत्म विश्वासी , हंसमुख , दयावान , विनयी , दीर्घ जीवी हो । जैसे सत्य अहिंसा तथा प्रेम आदि का भंडार हो । 6. त्वचा मुलायम , लचीली , चिकनी , स्वच्छ और गर्म हो करने हो तथा खुजलाने से उसमें चिन्ह और लकीरे न बनें । रोम कूपों के स्थान सघन , सुंदर और मुलायम बालों से भरे हो , पसीने में किसी प्रकार की बदबू न हो सर्दी गर्मी तथा बरसात आदि ऋतुओं को बर्दाश्त करने की सहज क्षमता हो। वर्तमान समय में इन बातों से पता लगाया जा सकता है कि वह व्यक्ति स्वास्थ्य की दृष्टि से किस श्रेणी में आता है। कालवा ने योग चिकित्सा पद्धति को संसार की सर्वोपरी चिकित्सा पद्धति माना है। वर्तमान समय में योग की बढ़ती लोकप्रियता इसका जीता जागता प्रमाण है। अपनी दैनिक दिनचर्या में योग को अपनाएं ओर सौ सालों तक निरोगी बनाएं अपने इस बहुमूल्य शरीर को जो प्रकृति और परमात्मा की श्रेष्ठ रचना है।

राजकीय कन्या महाविद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ में आयोजित हुआ विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण एवं मतदाता जागरूकता अभियान

समाचार गढ़, श्रीडूंगरगढ़। कस्बे के राजकीय कन्या महाविद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ में आज शुक्रवार को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान के अंतर्गत वोटर.आई.डी.से आधार लिंक की कार्यशाला का आयोजन किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. चंद्रशेखर कच्छावा ने बताया कि इस कार्यशाला के तहत योग्य मतदाताओं के नाम मतदाता सूचियों में जोड़ने एवं मतदाता पहचान पत्र को आधार कार्ड से लिंक करने का प्रशिक्षण उपस्थित छात्राओं को दिया गया। इस अवसर पर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, श्रीडूंगरगढ़ के ई. एल. सी. प्रभारी एवं निर्वाचन विभाग, श्रीडूंगरगढ़ से मास्टर ट्रेनर डॉ मनीष कुमार सैनी ने महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ विस्तार से दीं। बी.एल.ओ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने वोटर हेल्पलाइन एप के बारे में बताया। कार्यशाला में छात्राओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया एवं मतदाता जागरूकता सम्बन्धी जिज्ञासाओं का समाधान किया गया।कार्यशाला में श्रीडूंगरगढ़ शहरी क्षेत्र के भाग संख्या 102 से 107 तक के बी.एल.ओ. उपस्थित रहे। कार्यशाला की सम्पूर्ण व्यवस्था में राजकीय कन्या महाविद्यालय स्टाफ द्वारा योगदान सराहनीय रहा।

error: Content is protected !!
विज्ञापन